उत्तराखंड : गर्भवती अस्पताल से रेफर, एम्‍बुलेंस फिर बनी लेबर रूम

0
77

चमोली : सरकार और स्वास्थ्य मंत्री भले ही बार-बार बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का दावा करते हैं, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था की एक बार फिर पोल खुली है। बदरीनाथ हाईवे पर एक महिला ने 108 एम्‍बुलेंस में बच्चे को जन्म दिया। क्षेत्र में लचर स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के कारण महिला को जोशीमठ से जिला चिकित्सालय गोपेश्वर रेफर किया गया था।

महिला को 108 एम्‍बुलेंस से अस्‍पताल ले जाया जा रहा था। इस दौरान उसकी तबीयत खराब हो गई और उसने एम्‍बुलेंस में ही बच्‍चे को जन्‍म दिया। विगत जुलाई को हरिद्वार में एंबुलेंस न पहुंचने पर एक महिला रीना ने सड़क पर बच्‍चे को जन्‍म दिया था।

महिला के पति रामबाबू का आरोप है कि सूचना के करीब एक घंटे बाद एंबुलेंस जच्चा-बच्चा को लेकर जिला महिला अस्पताल पहुंची। अस्पताल के वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डा. संदीप निगम ने सुबह बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण किया, जिसमें वह स्वस्थ पाया गया।