राहुल गांधी का प्रधानमंत्री मोदी पर हमला, मणिपुर जल रहा और PM संसद में हंस रहे थे

0
62

राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पीएम मोदी के सवालों का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री संसद में मणिपुर पर दो मिनट बोले। मणिपुर में महीनों से आग लगी है, लोग मारे जा रहे हैं। दुष्कर्म हो रहा है, बच्चों को मारा जा रहा है। आपने देखा होगा कि प्रधानमंत्री हंस कर बोल रहे थे। मुस्कुरा रहे थे। जोक मार रहे थे। प्रधानमंत्री को यह शोभा नहीं देता है। अगर देश में ऐसा हो रहा है तो प्रधानमंत्री को दो घंटे यह नहीं करना चाहिए था। विषय कांग्रेस पार्टी नहीं था, विषय मणिपुर था, मणिपुर जल रहा है।

आगे बोले कि मैं करीब 19 साल से राजनीति में हूं और करीब हर राज्य में, चाहे बाढ़ आए, सुनामी आए, हिंसा हो, हम जाते हैं। 19 साल के अनुभव में मैंने जो मणिपुर में देखा, वह मैंने पहले कभी नहीं सुना। मैंने संसद में कहा कि अमित शाह जी और नरेंद्र मोदी जी ने मणिपुर में भारत की हत्या की।

साथ ही राहुल गांधी ने कहा कि मैं आपको बताता हूं मैंने यह बात बोली क्यों। जब हम वहां पहुंचे तो हमने वहां का दौरा किया। जब हम मैतेई इलाकों में गए, तो हमें साफ कहा गया था कि अगर आपकी सिक्योरिटी डिटेल में कोई कुकी होगा तो आप उसे मत लाइए हम उसे मार देंगे। जब हम कुकी इलाके में गए तो हमें कहा गया कि मैतेई को मत लाइएगा हम उसे गोली मार देंगे। हम जहां गए वहां से अपनी सुरक्षा में मैतेई और कुकियों को हटा दिया। यानी राज्य दो हिस्सों में बंट चुका है।

पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इसलिए मैंने कहा कि मणिपुर में जो हो रहा है वह भारत की हत्या है। उस पर प्रधानमंत्री हंस रहे थे। वे मणिपुर जा नहीं सकते। हिंदुस्तान की सेना आप सब जानते हो सेना को। जो मणिपुर में हो रहा है, उसे हिंदुस्तान की सेना दो दिन में रोक सकती है। अगर हिंदुस्तान की सेना को कहा गया कि तीन दिन में इस हिंसा को बंद करो तो सेना दो दिन में यह कर सकती है। लेकिन प्रधानमंत्री मणिपुर को आग में जलाना चाहते हैं। इसे बुझाना नहीं चाहते।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि भारतीय  सेना दो दिन में हालात काबू में ला सकती है लेकिन पीएम मणिपुर को जलाना चाहते हैं और आग को बुझाना नहीं चाहते हैं। प्रधानमंत्री कम से कम मणिपुर जा सकते थे, समुदायों से बात कर सकते थे और कह सकते थे कि मैं आपका पीएम हूं, आइए बात शुरू करें लेकिन मुझे कोई इरादा नहीं दिखता… सवाल यह नहीं है कि क्या पीएम मोदी 2024 में पीएम बनेंगे, सवाल मणिपुर का है जहां बच्चे, लोग मारे जा रहे हैं।