राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सिद्धू ने रखी सोनिया गांधी से मिलने की मांग, एक पत्र लिखकर पेश किया…

0
72

नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब में कांग्रेस की लगातार मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। पहले अध्यक्ष पद से अचानक इस्तीफा देना, उसके बाद नाटकीय रूप से इस्तीफे को वापस लेने फिर राहुल गांधी से मुलाकात के बाद भी उन्हें संतुष्टि नहीं मिली है। जिसके बाद उन्होंने अब कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात करने की इच्छा जाहिर की है। बता दें कि इसके साथ ही उन्होंने सोनिया गांधी को एक चिट्ठी भी लिखी है। इस चिट्ठी में नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को  13 सूत्रीय एजेंडा पेश किया है।

सिद्धू का कहना है कि साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वह 13 सूत्रीय एजेंडे के साथ पंजाब मॉडल का घोषणापत्र पर सोनिया गांधी से मिलकर चर्चा करना चाहते हैं। अपने इस पत्र में उन्होंने बेअदबी की घटनाओं में न्याय, ड्रग्स माफिया, कृषि क्षेत्र, पिछड़ों का विकास, बेरोजगारी जैसे कई बड़े मुद्दों का जिक्र किया है। इस पत्र में सिद्धू ने अपने 17 साल के राजनीतिक अनुभव का हवाला देते हुए कहा है कि, “जन भावनाओं को समझते हुए मुझे लग रहा है कि यह पंजाब के पुनरुत्थान का आखिरी मौका है। मैने विधायक, पंजाब कैबिनेट में मंत्री और अब पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष रहते हुए पंजाब के विकास मॉडल को प्राथमिकता दी है।”

उन्होंने दावा किया कि 2017 के चुनाव में उन्होंने कुल 55 विधानसभा सीटों पर प्रचार किया था, जिनमें 53 सीटों पर कांग्रेस की जीत हुई थी। सिद्धू ने पंजाब के नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के कुछ फैसलों से नाराजगी जताते हुए 28 सितंबर को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ दिया था। जिसके बाद चन्नी और अन्य नेताओं के मनाने पर वो मान भी गए।