किसानों पर पुलिस का लाठीचार्ज, प्रदर्शनकारियों ने तोड़े बैरिकेड

0
62

फिरोजपुर : पंजाब जीरा के गांव मंसूर वाला की शराब फैक्ट्री के बाहर जमा हो रहे किसान संगठनों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। इससे पहले सुबह एसएसपी कंवरदीप कौन ने धार्मिक समागम में किसी को ना रोकने की बात की थी। पुलिस ने किसानों पर किया लाठीचार्ज बता दें कि सोमवार को किसान संगठनों का धरने पर पहुंचना शुरु हुआ। इस दौरान किसानों ने सरकार का विरोध किया। हालांकि, पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के बैरिकेड गिरा दिए, इसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा।

लक्खा सदाना ने किसानों को किया था, संबोधित इस दौरान मालब्रोज शराब फैक्ट्री के सामने धरने पर बैठे किसानों को लक्खा सदाना ने संबोधित किया। फैक्ट्री के बाहर अखंड पाठ चलता रहा और लोग उसमें शामिल भी हुए। एसएसपी कंवरदीप कौर मौके पर मौजूद रहीं। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा धरना सिर्फ फैक्ट्री से दूर किया गया है। श्री अखंड पाठ में शामिल होने वालों को रोका नहीं जा रहा।

वहीं, वीडियो वायरल कर अफवाह फैलाई जा रही है कि पुलिस किसानों से धक्का कर धार्मिक समागम में पहुंचने नहीं दे रही है। इससे पहले पुलिस ने रविवार को केवल उन प्रदर्शनकारी किसानों पर कार्रवाई की, जिन्होंने बीच रास्ते में पुलिस की गाड़ियों को घेरा और कानून का उल्लंघन करने की कोशिश की। मौके पर हालात तनावपूर्ण हाईकोर्ट के आदेश के बाद जिला प्रशासन ने फैक्ट्री का एक गेट खुलवा दिया है और धरने को महज दूर किया है।

रविवार को जिला प्रशासन की कार्रवाई के बाद सोमवार को हालात गर्म रहे। रविवार को पुलिस ने प्रदर्शनकारियों का टेंट उखाड़ कर सामान हटा दिया था। उसके बाद शराब फैक्ट्री की ओर जाने वाली लिंक रेाड और हाइवे के चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात की गई। 250 अज्ञात पर मामला दर्ज पुलिस ने 27 प्रदर्शनकारियों का नामजद कर और 250 अज्ञात पर मामला दर्ज किया है और 4 गिरफ्तार किए था। जिसके खिलाफ किसान संगठनों का आक्रोश बढ़ गया और उन्होंने सोमवार को जिला के गांव मंदसोरवाला में पहुंचने का आह्वान किया था। हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।