PM से कॉल पर बातचीत के दौरान DM सुहास ने याद किए पुराने पल, बोले आपकी इन बातों से जीता है मेडल..

0
101

कर्नाटक के 38 साल के सुहास यतिराज (Suhas Yathiraj) ने टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल कर इतिहास रच दिया है। बता दें कि ये मेडल उन्होंने बैडमिंटन में जीता। गौरतलब हैं कि सुहास यतिराज मौजूदा समय में गौतम बुद्ध नगर के जिलाधिकारी (डीएम) हैं। इसके साथ ही वह आईएएस अधिकारी भी हैं। उन्होंने एसएल4 क्लास के फाइनल में फ्रांस के लुकास माजूर का सामना करते हुए सिल्वर मेडल जीता और पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी बन गए। भले ही वह गोल्ड जीतने में कामयाब न हो सके लेकिन फिर भी उन्होंने इतिहास के पन्नों पर अपना नाम लिख दिया।

उनकी इस जीत पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद कॉल कर उनको बधाई दी। फोन कॉल पर बातचीत के दौरान सुहास ने अपने बचपन को याद किया और पीएम से बोले कि “जब हम छोटे थे तो कभी नहीं सोचते थे कि आईएएस बनेंगे। जिला कलेक्टर बनेंगे या पैरालंपिक खेलों में जाएंगे। आपका आशीर्वाद रहा कि इस मुकाम तक पहुंचे। कई बार बचपन में मायूसी होती थी कि ईश्वर ने हमें दिव्यांग बना दिया।” उनकी बातों को सुनते हुए पीएम मोदी ने उनसे कहा कि “आपने शारीरिक कमजोरी को शक्ति में बदल दिया। यही वजह है कि आज देश का प्रधानमंत्री आप से बात करने के लिए लालायित हो रहा है। यह आपका पराक्रम है। इस उपलब्धि के लिए आपको बधाई।”

इस दौरान सुहास पूर्व में पीएम द्वारा कही गई बातों को याद किया और उन्होंने बताया कि उनकी बातों का उनके ऊपर बहुत असर पड़ा था। उन्होंने बताया कि जकार्ता एशियाई खेलों के बाद प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया था। पीएम ने उस समय कहा था कि “आप तो पहले ही जिंदगी की जंग जीत चुके हैं। मेडल कोई बड़ी बात नहीं है।” सुहास ने बताया कि पीएम की ये बात उनके दिल पर लग गई थी। जिसको उन्होंने आज तक याद रखा। बताते चलें कि इस दौरान पीएम और सुहास की फोन कॉल पर करीब 3 मिनट तक बातचीत हुई।