रावण की तरह केवल दो लोगों की सुनते हैं PM मोदी, एक अमित शाह और दूसरा अडानी

0
64

मणिपुर में हुई हिंसा के मद्देनज़र लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा का आज दूसरा दिन है. बुधवार को भी दोपहर 12 बजे चर्चा शुरू हुई और विपक्ष की ओर से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अपनी बात कही. राहुल के भाषण की शुरुआत ही हंगामेदार रही और जैसे ही उन्होंने गौतम अडानी का नाम लिया, वैसे ही हंगामा शुरू हो गया. राहुल के अलावा आज ही अमित शाह, स्मृति ईरानी भाषण दे रही हैं.

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर संसद में तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि जिस तरह से रावण केवल दो लोगों मेघनाथ और कुंभकर्ण की सुनता था। ठीक उसी तरह से पीएम मोदी भी केवल दो लोगों एक अमित शाह और दूसरे अडानी की सुनते हैं। इतना ही नहीं, राहुल गांधी ने यह भी कहा कि रावण को भगवान राम ने नहीं, बल्कि रावण के अंहकार ने मारा था।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को धन्यवाद करते हुए की. राहुल ने कहा कि आपने मुझे संसद में दोबारा वापस लिया. राहुल गांधी ने इस दौरान उद्योगपति गौतम अडानी का नाम लिया, जिसपर सदन में हंगामा हो गया. राहुल गांधी ने कहा कि आज मैं दिमाग नहीं दिल की बात करूंगा, मैं आपपर इतने गोले नहीं दागूंगा. राहुल गांधी ने कहा कि पिछले साल मैं भारत के एक कोने से दूसरे कोने तक हजारों लोगों के साथ चला, समंदर के तट से कश्मीर की बर्फीली पहाड़ियों तक चला. यात्रा के दौरान मुझसे लोगों ने पूछा कि तुम क्यों चल रहे हो, तुम्हारा लक्ष्य क्या है.

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि जिस चीज़ के लिए मैं मोदी सरकार की जेलों में जाने के लिए तैयार हूं, भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने से पहले मेरे दिल में अहंकार था. लेकिन भारत अहंकार को मिटा देता है, यात्रा की शुरुआत में ही घुटनों में दर्द शुरू हुआ. जब भी मेरा दर्द बढ़ता था, तब कोई शक्ति मेरी मदद करती थी. एक बच्ची ने मुझे चिट्ठी दी, जिसने मेरे लिए शक्ति का काम किया. ये सिलसिला चलता रहा, एक दिन किसान ने मुझे अपने खेत की रुई पकड़ाई और अपना दुख मुझसे साझा किया.

पीएम मोदी पर तीखा हमला

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि ये देश एक आवाज़ है, ये इस देश के लोगों का दर्द है और कठिनाइयां है. राहुल ने कहा कि मैं कुछ दिन पहले मणिपुर गया था, लेकिन प्रधानमंत्री अभी तक नहीं गए हैं. प्रधानमंत्री के लिए मणिपुर हिंदुस्तान नहीं है, आज मणिपुर दो हिस्से में बांट दिया गया है. राहुल गांधी ने बताया कि मणिपुर में एक महिला ने मुझे बताया कि उसके इकलौते बेटे को गोली मार दी गई, मैं पूरी रात उसकी लाश के साथ रही.

जब वो महिला अपनी आपबीती बता रही थी तब वह बात करते हुए बेहोश हो गई. मंगलवार को जब चर्चा शुरू हुई तब कांग्रेस की ओर से गौरव गोगोई, बीजेपी की ओर से निशिकांत दुबे, टीएमसी की ओर से सौगत रॉय, एनसीपी की ओर से सुप्रिया सुले, समाजवादी पार्टी की ओर से डिंपल यादव समेत अन्य नेताओं ने अपनी बात कही. इस दौरान राहुल गांधी को लेकर सदन में हंगामा भी हुआ.