SBI, PNB, HDFC और ICICI Bank के ATM से पैसा निकालने का बदला नियम

0
96

देश के सभी बैंक अपने ग्राहकों को हर महीने एक निश्चित संख्या में एटीएम लेनदेन मुफ्त में देते हैं। अगर महीने भर के अंदर ये सीमा पार हो जाती है, तो ग्राहकों को प्रत्येक एटीएम लेनदेन पर अतिरिक्त भुगतान करना होगा, चाहे ये वित्तीय हो या गैर-वित्तीय।

भारतीय रिजर्व बैंक के नवीनतम दिशानिर्देशों के अनुसार, बैंक मुफ्त लेनदेन की संख्या से अलग प्रत्येक निकासी पर अधिकतम 21 रुपये का शुल्क ले सकते हैं। आइए, जान लेते हैं कि कौन से बैंक एक महीने में कितने ट्रांजेक्शन की लिमिट देते हैं और उसके बाद आपको कितना चार्ज भरना पड़ेगा। अधिकांश बैंक ग्राहकों को हर महीने 5 मुफ्त लेनदेन की पेशकश करते हैं। यदि इसका उपयोग नहीं किया जाता है, तो ये सीमा अगले महीने तक आगे नहीं बढ़ती है। आइए, देश की कुछ प्रमुख बैंको के नियमों के बारे में जान लेते हैं।

पीएनबी मेट्रो और गैर-मेट्रो दोनों क्षेत्रों में अपने एटीएम पर हर महीने 5 मुफ्त लेनदेन की अनुमति देती है। इसके बाद ग्राहकों को प्रत्येक लेनदेन पर 10 रुपये देने होंगे। वहीं, अन्य बैंकों के एटीएम पर पीएनबी मेट्रो सिटी में तीन और गैर-मेट्रो सिटी में पांच मुफ्त लेनदेन की पेशकश करता है। इसके बाद बैंक वित्तीय लेनदेन के लिए 21 रुपये प्लस टैक्स वसूलेगा। गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए PNB 9 रुपये प्लस कर लगाएगी।

भारतीय स्टेट बैंक 25,000 रुपये से अधिक की औसत मासिक शेष राशि के लिए अपने एटीएम पर 5 मुफ्त लेनदेन (गैर-वित्तीय और वित्तीय सहित) प्रदान करता है। इस राशि से ऊपर लेनदेन असीमित है। सीमा से अधिक वित्तीय लेनदेन के लिए एसबीआई एटीएम पर जीएसटी के साथ 10 रुपये का शुल्क लगता है। अन्य बैंक एटीएम पर, ये प्रति लेनदेन 20 रुपये प्लस जीएसटी है।

ICICI Bank अपने ग्राहकों को हर महीने गैर-मेट्रो क्षेत्रों में 5 और 6 मेट्रो क्षेत्रों में 3 मुफ्त लेनदेन की अनुमति देती है। उसके बाद, आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम पर प्रत्येक गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 8.5 रुपये और प्रत्येक वित्तीय लेनदेन के लिए 21 रुपये का शुल्क लिया जाता है।

HDFC Bank के ATM पर हर महीने 5 मुफ्त लेनदेन की सीमा है। गैर-बैंक एटीएम के लिए मेट्रो क्षेत्रों में इसकी सीमा 3 लेनदेन और गैर-मेट्रो क्षेत्रों में 5 लेनदेन है। सीमा पार होने के बाद ग्राहकों से प्रत्येक वित्तीय लेनदेन के लिए 21 रुपये और प्रत्येक गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए 8.5 रुपये शुल्क लिया जाएगा।