नार्थ अमेरिका के इस देश में हुआ रोने का कम्पटीशन

0
176

दुनिया भर में ही इस समय कोरोनावायरस ने अपने कहर के कोहराम मचा रखा है। लेकिन कुछ देश ऐसे हैं जो इससे बुरी तरह प्रभावित हो चुके हैं। जिसमें से एक देश मेक्सिको (Mexico) भी है। बता दें कि मेक्सिको में भी कोरोना संकट की वजह से लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि 1 नवंबर दिन हर साल मेक्सिको में एक त्योहार मनाया जाता है। जिसका नाम ‘द डे ऑफ द डेड (Day of Dead)’ है। मेक्सिको में इस त्योहार को सबसे बड़े त्योहारों में से एक माना जाता है।

मिली जानकारी के मुताबिक इस दिन इस दिन लोग अपने पूर्वजों की कब्रों पर जाते हैं, उन्हें सजाते हैं और उनके मन पसंद की चीजें भी लेकर जाते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इस दिन मेक्सिको में एक बहुत बड़ा रोने का कॉम्पटीशन भी होता है। जिसमें बहुत से लोग पार्टिसिपेट करते हैं और जीतने वाले को ईनाम भी दिया जाता है। लेकिन इस साल कोरोनावायरस के कारण सभी कब्रिस्तान बंद हैं। जिसके कारण इस साल डे ऑफ द डेड के दिन भी सार्वजनिक उत्सवों पर पाबंदी रही।

एक रिपोर्ट में अनुसार इस साल लगी पाबंदी के कारण न तो लोग कब्रों पर जा पाए और न ही रो कर अपना मन हल्का कर पाए। खबर ये भी है कि मेक्सिको के सैन जुआन डेल रियो नाम के शहर में ये रोने वाला कॉम्पटीशन इस साल भी हुआ। लेकिन इस बार इसको डिजिटल तरह से करवाया गया। जिसके चलते लोगों ने इसके लिए 2-2 मिनट की रोने के वीडियो बनाकर भेजे थे। बता दें कि सर्वश्रेष्ठ रोने वाला चुनने की परंपरा दरअसल प्राचीन परंपरा का सम्मान है, जिसमें किसी की मौत पर रोने के लिए किराए की महिलाएं बुलाई जाती थीं। इस साल के रोने के कॉम्पटीशन का पहला अवॉर्ड कैलीफिर्निया की प्रिंसेसा कैटलीना चावेज ने जीता।