पानी-पानी हुआ नागपुर, स्कूल-कॉलेज बंद, अब तक 400 लोगों का हुआ रेस्क्यू

0
117

महाराष्ट्र में भारी बारिश के कारण कई जगहों जलभराव होने के कारण बहुत-से लोग अपने घरों में फंस गए हैं। जलभराव के कारण लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी हो रही है। रस्सी का सहारा लेकर लोग एक जगह से दूसरी जगह जा रहे हैं। IMD कि जानकारी के मुताबिक 22 और 23 सितंबर को मध्य महाराष्ट्र और मार्तावाड़ा में बारिश भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश के कारण नागपुर शहर के कई हिस्सों में बाढ़ आ गई, जिसके बाद एक स्कूल के 70 छात्रों सहित 400 से अधिक लोगों को बचाया गया। उन्होंने कहा कि भारी बारिश के कारण एक बुजुर्ग महिला और 14 मवेशियों की जान चली गई।

लगातार बारिश हो रही है, जिसके बाद नागपुर के कैनाल रोड रामदासपेठ में भारी जलभराव हो गया है। लोगों के कमर से ऊपर तक पानी भर आया है। इस जलभराव के कारण लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी हो रही है। रस्सी का और एक-दूसरे का सहारा लेकर लोग एक जगह से दूसरी जगह जा रहे हैं।

रात के दो बजे से लगातार बारिश होने के कारण अंबाझरी झील ओवरफ्लो होकर बह रहा है, जिसके कारण आसपास के इलाकों में जलजमाव हो गया है और बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है। वहीं, दूसरी ओर एनडीआरएफ की ओर से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया है, जिसमें लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। इस बीच टीम ने अंबाझरी झील क्षेत्र से 6 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला है।

आपदा प्रबंधन विभाग स्थिति पर नजर बनाए हुए है। जिले के सभी स्कूलों को बंद करने का निर्देश दे दिया गया है। बाढ़ के पानी के कारण दुकानें, स्कूल आदि भी बंद कर दिए गए हैं। लोगों के घरों और दुकानों में कई इंच तक पानी घुस गया है, जिससे उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

IMD कि जानकारी के मुताबिक, 22 और 23 सितंबर को मध्य महाराष्ट्र और मार्तावाड़ा में बारिश भारी बारिश होगी। कई जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना जताई है। इसके अलावा, मौसम विभाग ने मुंबई , कोंकण, पुणे, ठाणे, पश्चिमी महाराष्ट्र के अधिकांश जिलों और मराठवाड़ा में अगले चार से पांच दिनों तक भारी बारिश की संभावना जताई है।साथ ही, वाशिम, अकोला, अमरावती, यवतमाल, नागपुर, गढ़चिरौली,भंडार जिलों समेत कई जिलों में येलो अलर्ट जारी किया है।