महबूबा मुफ्ती आज पेश करेंगी सरकार बनाने का दावा

0
131

पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती और भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा व पार्टी विधायक दल के नेता डॉ. निर्मल सिंह शनिवार को दोपहर साढ़े तीन बजे राज्यपाल एनएन वोहरा से मुलाकात कर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा, सांसद जुगल किशोर और वरिष्ठ पीडीपी नेता नईम अख्तर ने प्रस्तावित मुलाकात की पुष्टि की है।

इससे पहले लग रहा था कि बात बनते-बनते फिर अटक गई है। दिनभर चली मेराथन बैठकों के बाद आखिरकार यह सहमति बनी। शुक्रवार को प्रस्तावित मुलाकात एन वक्त पर टल गई। दोपहर में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा ने पार्टी की बैठक के बाद पत्रकारों को बताया कि राज्यपाल से मुलाकात करने के पहले पीडीपी से बातचीत की जाएगी।

दोनों दलों के अध्यक्षों को शुक्रवार को राज्यपाल एनएन वोहरा से मिलना था। भाजपा महासचिव राम माधव ने बताया कि दोनों दलों के नेता आपस में चर्चा करने के बाद राज्यपाल से मिलने एक साथ जाएंगे। अटकलें लगने लगीं कि मंत्रिमंडल में भाजपा मंत्रियों की संख्या और महकमों को लेकर पेच फंस गया है।

मुफ्ती सरकार में अपना पलड़ा हलका रखने वाली भाजपा अब बराबरी का दावा कर रही है। शुक्रवार को दिनभर पीडीपी और भाजपा की बैठकों का दौर चलता रहा। देर शाम भाजपा विधायक बाली भगत के आवास पर दोनों दलों के नेताओं की बैठक हुई। इसके बाद भी बात पूरी तरह बनी नहीं। फिर बातचीत का एक दौर और हुआ, जिसके बाद शनिवार को गवर्नर से मिलना तय हुआ। माना जा रहा है कि 29 मार्च को शपथ ग्रहण हो सकता है।
शुक्रवार को सुबह भाजपा विधायक दल की बैठक में पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार बनाने पर सर्वसम्मति से मुहर लग गई। डॉक्टर निर्मल सिंह को फिर उप मुख्यमंत्री बनाना तय हुआ। वीरवार को पीडीपी विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री पद के लिए महबूबा मुफ्ती को आम सहमति से चुना गया था।
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव, प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, सांसद जुगल किशोर व शमशेर सिंह मन्हास की मौजूदगी में विधायक दल की बैठक हुई। बैठक के बाद राम माधव ने कहा कि भाजपा राज्य के विकास और स्थिर सरकार के लिए कुछ मुद्दों पर महबूबा मुफ्ती व अन्य नेताओं के साथ चर्चा करना चाहती है।

राज्यपाल से न मिलने के पीछे मंत्री पद के पेच के सवाल पर राम माधव ने कोई जवाब देने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि पीडीपी के साथ कोई मतभेद नहीं हैं, लेकिन, जरूरी मुद्दों पर बातचीत होगी। श्रीनगर से जम्मू पहुंची पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने भी भाजपा के रुख को देखते हुए राज्यपाल से मिलने का कार्यक्रम टाल दिया।

भाजपा पीडीपी में फंसे पेच को सुलझाने के लिए शाम को दोनों पार्टियों के नेताओं की बैठक पूर्व मंत्री बाली भगत के निवास हुई। दोनों तरफ से अपने रुख से गठबंधन सहयोगी दल को अवगत करवा दिया गया।