लॉकडाउन में तेलंगाना से झारखंड के लिए चली पहली ट्रेन,प्रवासियों को उनके गृह जनपद पहुँचाएगी

0
247

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉक डाउन चल रहा है जिससे पिछले 40 दिनों से कोई भी ट्रेन नहीं चली थी ।परंतु तेलंगाना में फंसे हुए लगभग 12 सौ प्रवासी मजदूरों को उनके गृह जनपद छोड़ने के लिए तेलंगाना में लिंगमपल्ली से  झारखंड के हटिया तक ले जाने वाली पहली स्पेशल ट्रेन शुक्रवार सुबह 4:50 बजे चली। 24 कोच की ट्रेन आज रात 11 बजे झारखंड के हटिया पहुंचेगी।

दरअसल समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार आरपीएफ के महानिदेशक अरुण कुमार ने इसकी जानकारी दी। तेलंगाना सरकार के अनुरोध पर और रेल मंत्रालय के उचित दिशा निर्देशों के साथ ट्रेन को चलाने का निर्णय लिया गया है। ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरीके से ख्याल रखा गया है और इसके साथ साथ ट्रेन को पूरी तरीके से सैनिटाइज भी किया गया है।

भारतीय गृह मंत्रालय का कहना है कि, देश में लॉक डाउन होने से कोरोना वायरस का खतरा निश्चित ही कम हुआ है। अगर सब कुछ सही रहा तो 4 मई से देश के कुछ राज्यों के जिलों में वायरस के खतरों को देखते हुए निश्चित ही कुछ ढील दी जाएगी।

बता दें कि,केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से यह कह दिया है कि, वह अपने दिहाड़ी मजदूरों और छात्रों को अपने राज्य सड़क रास्ते से बुला ला सकते हैं लेकिन इसके साथ उन्हें कोरोनावायरस की जांच और उन्हें क्वॉरेंटाइन करके ही उन्हें घर पहुंचाया जाए। जाहिर है कि 25 बार से देश में पूर्ण तरीके से चल रहे लॉकडाउन के कारण लगभग सभी राज्यों में प्रवासी मजदूर और छात्र फंसे हुए थे।ऐसे में राज्य सरकारें उन्हें वापस लाने की पूरी तैयारी के साथ जुटी हुई है।

बताते चलें कि,भारतीय स्वास्थ्य विभाग के अनुसार देश मे कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज़ों की सँख्या 35,043 पहुँच चुकी है जिसमे 1,147 लोगों की मृ’त्यु हो चुकी है और राहत की बात यह है कि,अब तक 8,889 लोग पूरी तरीके से ठीक हो चुके है ।