कृषि क़ानून पर राजनाथ सिंह का बड़ा बयान, “धरने पर जो लोग बैठे हैं…”

0
81
Rajnath Singh

कृषि क़ानून लागू होने के बाद से इसके विरोध में किसान आंदोलन चलते हुए अब क़रीब एक महीना होने वाला है। दिल्ली बोर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों की एक ही माँग है कि इस क़ानून को सरकार वापस ले जबकि सरकार का कहना है कि ये क़ानून किसानों की हाई भलाई के लिए है और इसमें संशोधन किया जा सकता है लेकिन वापस नहीं लिया जाएगा। इसी बाबत केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने इस मामले में बयान दिया और कहा कि एक बार इस क़ानून को लागू होने दिया जाए।

राजनाथ सिंह ने कहा कि “मैं प्रदर्शन कर रहे सभी किसानों से कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए आगे आने की अपील करता हूँ। मैं प्रदर्शन कर रहे सभी किसानों से कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए आगे आने की अपील करता हूँ। बातचीत के जरिए हर मसला हल हो सकता है। प्रधानमंत्री चाहते हैं कि किसानों के साथ वार्ता जारी रहे। कृषि कानूनों को एक साल के लिए लागू होने दें। अगर ये किसानों के लिए फायदेमंद साबित नहीं हुए तो हम इसमें आवश्यक संशोधन करने के लिए तैयार हैं”

Rajnath Singh
राजनाथ सिंह ने ये बातें एक रैली को सम्बोधित करते समय कहा, उन्होंने आगे कहा कि “हमारी सरकार कभी ऐसा कुछ नहीं करेगी, जो किसानों के हित में ना हो। धरने पर जो लोग बैठे हैं वे किसान परिवारों में जन्मे किसान हैं हम उनका बहुत सम्मान करते हैं। मैं खुद किसान का बेटा हूं. मोदी सरकार कभी ऐसा कुछ नहीं करेगी जो किसानों के हितों के खिलाफ हो। अभी एक या दो साल के लिए कृषि कानूनों को लागू करने दिया जाए। इसे प्रयोग के तौर पर देखते हैं और अगर ये किसानों के लिए लाभकारी साबित नहीं होते तो सरकार हर संभव संशोधन को तैयार रहेगी”