केंद्र को पंजाब हाईकोर्ट की फटकार, राज्यों के साथ सौतेला व्यवहार न करें, सरकार अपने…

0
37

देश में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। कोरोना का कहर लगातार बरस रहा है। ऐसे में और भी ज्यादा परेशानी ऑक्सीजन की किल्लत से हो रही है। देश के कई राज्यों में ऑक्सीजन की कमी है। जिसके कारण अब तक कई लोगों की मौत भी हो गई है। इन राज्यों में सबसे ज्यादा हालात दिल्ली के खराब है। लेकिन आशंका जताई जा रही है कि अगर पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में समय से ऑक्सीजन न पहुचाई गई तो यहां भी हालात बिगड़ जाएंगे। ऐसे में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट (Punjab and Haryana High Court) ने सुनवाई के दौरान इस मुद्दे पर केंद्र सरकार को फटकार लगाई है।

हाईकोर्ट ने कहा कि “पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के मरीजों के परिजनों को ऑक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है और दूसरे राज्यों से ऑक्सीजन का बंदोबस्त करना पड़ रहा है। ऑक्सीजन का प्रबंध करने के लिए मरीजों के परिजनों को समय चाहिए होता है क्योंकि इसकी ट्रांसपोटेशन सड़क या रेल मार्ग से हो सकती है इसलिए केंद्र सरकार को ऑक्सीजन की आवंटन नीति पर विचार करना चाहिए।” इस दौरान हाईकोर्ट ने कहा कि कुछ लोग सिर्फ पैसे कमाने के लिए इंसानियत के दुश्मन बने हुए हैं।

जस्टिस राजन गुप्ता एवं जस्टिस करमजीत सिंह की खंडपीठ ने कहा कि “महामारी के दौरान पैसा कमाने के चक्कर में कुछ लोग मानवता के दुश्मन बने हुए हैं. ऐसे लोगों से सरकार को सख्ती से निपटना चाहिए. जो लोग निवार्स्थ दिन-रात कोरोना के मरीजों की सहायता कर रहे हैं उनकी सराहना भी की जानी चाहिए। हरियाणा, चंडीगढ़ और केंद्र सरकार को मानवता के दुश्मनों से निपटने के लिए खुली छूट देने के भी निर्देश दिए हैं।” जानकारी के मुताबिक पंजाब सरकार काफी समय से केंद्र को ऑक्सीजन के लिए पत्र लिख रही है। लेकिन केंद्र से कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया जा रहा।