गृह मंत्री अमित शाह ने नीतीश कुमार से की बातचीत, और कितने समय तक रहेगा एनडीए गठबंधन.?

0
18

बिहार देश का एक ऐसा राज्य है, जहां सबसे ज्यादा सियासी बदलाव होते हुए देखे जाते हैं। बिहार में आए दिन कोई न कोई राजनीतिक मुद्दा उठ जाता है और इन दिनों सियासत चल रही है बिहार की एनडीए सरकार में, खबर है कि एनडीए सरकार गिरने की कगार पर है। जल्दी ही भाजपा और जेडीयू अलग अलग हो सकते हैं। इसको लेकर कई बातें कहीं जा रही हैं। एक तरफ जहां कुछ जेडीयू नेता भाजपा से गठबंधन टूटने की बात कर रहे हैं तो कुछ अभी भी सब कुछ नॉर्मल बता रहे हैं। लेकिन खबर तो ये है कि बात इतनी ज्यादा बढ़ चुकी है कि राज्य के मुख्यमंत्री ने विपक्ष से भी बातचीत कर ली है।

बता दें कि आज जेडीयू ने अपने सभी विधायकों और सांसदों की बैठक बुलाई है। इस बैठक को काफी अहम बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने पर भी सहमति बन सकती है। हालांकि अभी कुछ समय पहले खबर आई थी कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले को संभालने की कोशिश की है। उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से फोन कॉल पर बातचीत की। लेकिन इस बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है कि दोनों की क्या बातचीत हुई।

वहीं, दूसरी ओर आज राजद और कांग्रेस ने अभी सभी विधायकों को पटना में रहना के आदेश जारी कर दिया हैं। सूत्रों की माने तो इस बैठक से पहले ही कांग्रेस, सीपीआई एमएल और जीतन राम माँझी की हम ने नीतीश कुमार को बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा की हैं। उनका कहना है कि बस वह भाजपा का साथ छोड़ दें।