हाई को’र्ट के फैसले से मिली पायलट खेमे को राहत, बा’गियों को….

0
286

राजस्थान में चल रहे सियासी घ’मासान के चलते राजस्थान हाईको’र्ट (Rajasthan High Court) द्वारा राजस्थान कांग्रेस संक’ट (Rajasthan Congress Crisis) में पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को बड़ी राहत दी गयी है। शुक्रवार को राजस्थान हाई को’र्ट (Rajasthan High Court) द्वारा फैसला सुनाया गया की, यथास्थिति को बरकरार रखा जाए। हाई को’र्ट ने स्पीकर के नोटिस पर रोक लगाने के अपने आदेश को बरकरार रखा है। इसका मतलब है कि स्पीकर द्वारा सचिन पायलट और बा’गी विधायकों पर अयोग्यता की कार्र’वाई नहीं की जा सकती। इससे पहले होने वाली हाई को’र्ट की सुनवाई में को’र्ट द्वारा अपना फैसला सुरक्षित रख लिया गया था।

राजस्थान हाई को’र्ट (Rajasthan High Court) ने अपना आदेश देते हुए कहा कि, फिलहाल नोटिस पर कार्रवाई नहीं होगी। हाई को’र्ट द्वारा आगे की सुनवाई जारी रखी जाएगी और को’र्ट द्वारा सुनवाई के लिए पहले कानून के सवाल को तय किया जाएगा। बताया जा रहा है कि सचिन पायलट के खेमे की ओर से शुक्रवार को को’र्ट में मामले में केंद्र को भी पक्ष बनाने को लेकर याचिका दाखिल की गई थी, जिसे को’र्ट द्वारा स्वीकार कर लिया गया है। को’र्ट द्वारा कहा गया है कि, वो इस मामले केंद्र का पक्ष भी सुनेगा।

सचिन पायलट को हाई को’र्ट के इस फैसले से बड़ी राहत पहुंची है। हाई को’र्ट द्वारा पहले सुनवाई में स्पीकर को शुक्रवार तक कोई कार्रवाई न करने का आदेश दिया गया था, और ऐसा करने से सचिन पायलट को वक़्त मिल गया था। हाई को’र्ट द्वारा सुनाए गए इस फैसले के खिला’फ स्पीकर सीपी जोशी बुधवार को सुप्रीम को’र्ट पहुंचे। स्पीकर द्वारा दायर की गई याचिका में लिखा गया कि, स्पीकर के पास नोटिस जारी करने का अधिकार है और उन्होंने कहा था कि, कि कार्रवाई करने तक को’र्ट इसमें दखल नहीं दे सकता है। इस मामले पर सुप्रीम को’र्ट में भी सुनवाई गुरुवार को हुई और मामले को अगली सुनवाई के लिए सोमवार तक टाल दिया गया है। सुप्रीम को’र्ट ने कहा था कि, हाईको’र्ट का फैसला उसके अधीन रहेगा। हाई को’र्ट द्वारा जो फैसला लिया गया है इसके चलते सचिन पायलट को एक बड़ी राहत मिली है। इसके पीछे की एक बड़ी वजह पायलट खेमे की ओर से केंद्र को पक्ष बनाने की याचिका है। को’र्ट ने इस मामले को आगे मुल्तवी करते हुए कहा कि, अब वो केंद्र का पक्ष भी सुनेगा।

राजस्थान विधानसभा के स्पीकर द्वारा पिछले हफ्ते सचिन पायलट के साथ-साथ 19 कांग्रेसी विधायकों को अयोग्यता का नोटिस भेजा गया था। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा बुलाई गई मीटिंग्स में सचिन पायलट और बाकी विधायकों ने जाने से इनकार कर दिया था और इस बार सचिन पायलट आर-पार के मूड में आ गए थे राजस्थान कांग्रेस विधायकों की बैठकों में शामिल न होने और हरियाणा के किसी होटल में रुकने का आरो’प लगाते हुए कांग्रेस स्पीकर के पास पहुंची थी, जिन्होंने विधायकों को ‘पार्टी-विरो’धी गति’वि’धियों में शामिल’ होने के आ’रोप में नोटिस भेजा और सवाल किया कि, उनके खिला’फ विधानसभा में अयोग्य घोषित करने की कार्रवाई क्यों न की जाए? इस मसले पर सचिन पायलट ने सीधा हाई को’र्ट का दरवाज़ा खटखटाया, और अब वो सुप्रीम को’र्ट तक पहुंच चुके हैं।