तिहाड़ जेल में गैंगवार: गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया की हत्या

0
80

नई दिल्ली : तिहाड़ जेल संख्या आठ- नौ में बंद कुख्यात बदमाश सुनील उर्फ टिल्लू ताजपुरिया की मंगलवार को हत्या कर दी गई। टिल्लू पर सुए से वार  किया गया। घायल अवस्था में उसे डीडीयू अस्प्ताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

जेल अधिकारी के मुताबक, दिल्ली के रोहिणी कोर्ट शूटआउट के आरोपी गैंगस्टर टिल्लू ताजपुरिया पर प्रतिद्वंद्वी गिरोह के सदस्यों योगेश टुंडा और अन्य ने तिहाड़ जेल में हमला कर उसे मार गिराया। उसे घायल अवस्था में इलाज के लिए दिल्ली के दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है।

दिल्ली पुलिस के एडिशनल डीसीपी वेस्ट डिस्ट्रिक्ट अक्षत कौशल ने बताया कि आज सुबह करीब 7 बजे डीडीयू अस्पताल से दो यूटीपी के संबंध में सूचना मिली, जिन्हें तिहाड़ जेल से अस्पताल लाया गया था उनमें से एक सुनील उर्फ ​​टिल्लू को बेहोशी की हालत में लाया गया था जिसे बाद में मृत घोषित कर दिया गया। एक अन्य व्यक्ति रोहित का इलाज चल रहा है और वह खतरे से बाहर है।

गोगी गैंग से जुड़ा रहा योगेश टुंडा पर टिल्लू ताजपुरिया पर हमला करने का आरोप लगा है। बता दें कि गोगी की पूर्व में रोहिणी कोर्ट परिसर में हत्या हो चुकी है। तब इसका आरोप टिल्लू पर लगा था। टिल्लू और गोगी गैंग बाहरी दिल्ली इलाके में सक्रिय थे। दोनों गैंग के सरगना की आपसी झगड़े में हत्या की बात सामने आई है। एक महीने में तिहाड़ में गैंगवार की यह दूसरी घटना है। इससे पहले प्रिंस तेवतिया की हत्या हुई थी।

टिल्लू हमेशा से गोगी पर भारी पड़ रहा था। रोहिणी कोर्ट में गोगी की हत्या हो जाने के बाद दीपक बॉक्सर ने गिरोह की कमान संभाली थी। उसने लारेंस से हाथ मिलाकर गिरोह को मजबूत कर लिया था। टिल्लू और गोगी दोनों गिरोह के सरगना की हत्या हो जाने से दिल्ली में अब रंगदारी वसूलने का सिलसिला थम सकता है।