डाॅ श्वेता व्यास को प्रो.एच.जे. अर्निकर अवार्ड

0
36

कोटा 22 दिसंबर : डॉ श्वेता व्यास, सहायक आचार्य,रसायन शास्त्र, कोटा विश्वविद्यालय को दिनांक 20 से 22 दिसम्बर 2023 तक कोटा में आयोजित इंडियन कॉउन्सिल ऑफ केमिस्ट, आगरा उत्तर प्रदेश की 42 वी वार्षिक कॉन्फ्रेंस के समापन समारोह में आयोजित कार्यक्रम में प्रो.एच.जे.अर्निकर अवॉर्ड से सम्मानित किया गया जो कि उनके एडसॉर्पशन केमिस्ट्री पर किए गए विशिष्ट शोध कार्यों के लिये प्रदान किया गया।

डॉ श्वेता व्यास ग्रीन केमिस्ट्री के सिद्धांतों पर आधारित वेस्ट से वेल्थ के अनुसार ऐग्रोवेस्ट से नैनोकॉम्पोसिट पदार्थों को जल शुद्धिकरण करने के विषय पर शोध कार्य करवाती हैं। उनके कुल 32 शोध पत्र प्रकाशित है तथा उन्होंने देश ही नहीं विदेश में भी प्रोजेक्ट कार्य संपादित किये हैं। हाल ही में हनोई यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, वियतनाम में भी पेपर प्रेजेंट किया था। इंडियन कॉउंसिल ऑफ केमिस्ट, आगरा प्रतिवर्ष ऐसे शोधकर्ताओं को सम्मानित करती है जो अपने चारों ओर समाज में व्याप्त छोटी- छोटी समस्या को पहचान कर विशिष्ट शोध कार्य के द्वारा उन्हें सुलझाने में मदद करने के उद्देश्यों से शोध कर रहे हैं और जो समाज के सर्वांगीण विकास एवं पर्यावरण संरक्षण के लिये नेट ज़ीरो उत्सर्जन के सिद्धांत को अपना कर पर्यावरण को सहेजने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

उक्त कॉन्फ्रेंस के तीन दिवसीय परिचर्चा में देश की जानी मानी शैक्षिक एवं शोध संस्थाओं दिल्ली विश्वविद्यालय, आंध्रा विश्विद्यालय, आई आई टी मद्रास, सावित्री बाई फुले विश्विद्यालय, राजस्थान विश्वविद्यालय आदी से आये शोधकर्ताओं व रसायनविदों ने अपने कुल 200 शोध पत्रों के द्वारा अपने कार्यो की प्रस्तुति दी जिनमें से विशिष्ट क्षेत्रों में उपलब्धि प्राप्त करने वाले चयनित 30 रसायनज्ञों विभिन्न पुरस्कार प्रदान किए गए।