दिल्ली सरकार के कड़े नियमों के बाद AIIMS का बड़ा फैसला, कोरोना के कहर के बीच मेडिकल स्टाफ की हुईं..

0
19

कोरोना के कहर को देखते हुए दिल्ली सरकार के बाद हुए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने भी बड़ा फैसला लिया है। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बाद मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। ऐसे में भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की शीतकालीन अवकाश (Winter Vacation) को रद्द करने की घोषणा की है। एम्स ने ज्ञापन के जरिए इस बात की जानकारी दी है। बताया जा रहा है कि ओमिक्रॉन (Omicron) और कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते 5 जनवरी से 10 जनवरी तक डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ की अवकाश को कैंसल कर दिया गया है।

एम्स ने ज्ञापन में कहा है कि “यह सूचित किया जाता है कि कोविड-19 और ओमिक्रॉन महामारी के मद्देनजर सक्षम प्राधिकारी ने शीतकालीन अवकाश के शीष बचे भाग 5 से 10 जनवरी को रद्द करने का फैसला किया है। सभी फैकल्टी मेंबर्स से तत्काल काम पर लौटने का आग्रह किया जाता है।” दिल्ली में कोरोना का संकट तेज़ी से बढ़ रहा है। ऐसे में दिल्ली सरकार की परेशानियां और भी ज्यादा बढ़ गई हैं। दिल्ली में लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए दिल्ली सरकार ने राज्य में नए नियम जारी किए हैं।

बीते कुछ दिनों से दिल्ली में कोरोना का कहर तेज़ी के साथ बढ़ रहा है। इस बीच पिछले दो से तीन दिनों में 50 से अधिक मरीजों को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती होने की खबर सामने आई है। वहीं, दूसरी ओर स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि “ये अच्छे संकेत नहीं हैं और देश को तीसरी लहर को हल्के में नहीं लेना चाहिए क्योंकि ओमिक्रॉन के साथ डेल्टा वेरिएंट भी अभी सर्कुलेशन में है।” आपको बता दें कि दिल्ली सरकार के फैसले के बाद अब राज्य में वीकेंड कर्फ़्यू लागू करने की तैयारी की जा रही है।