टाइटैनिक का मलबा देखने गई पनडुब्बी में सवार सभी की मौत

0
53

नई दिल्ली: लापता पनडुब्बी को लेकर एक नया अपडेट सामने आय है. ओसियन गेट कंपनी के मुताबिक टाइटैनिक को देखने के लिए पांच लोगों को लेकर जो पनडुब्बी रवाना हुई थी, उसका अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है. ऐसे में अब उसमें सवार सभी लोगों को अब मृत माना जाना चाहिए. कंपनी ने इस घटना को लेकर कहा है कि टाइटैनिक की ओर जाने वाली लापता पनडुब्बी पर सवार पांच चालक दल के सदस्यों की उनके जहाज के “विनाशकारी विस्फोट” से मृत्यु हो गई. कंपनी ने इसे लेकर एक बयान भी जारी किया है. इस बयान में कंपनी ने उन लोगों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैं जिनकी इस घटना में मौत हुई है.

कंपनी ने इस हादसे को लेकर एक बयान जारी किया है. इस बयान में कहा गया है कि ये लोग सच्चे खोजकर्ता थे जिनमें साहस की एक विशिष्ट भावना और दुनिया के महासागरों की खोज और उन्हें बचाने का गजब का जुनून था. इस दुखद समय में हमारी संवेदनाएं इन पांच आत्माओं और उनके परिवार के प्रत्येक सदस्य के साथ हैं. यूएस कोस्ट गार्ड ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि खोज के दौरान अज्ञात आवाज़ों का पता चला था, लेकिन उन आवाज़ों को लापता जहाज से नहीं जोड़ा जा सका. ऐसे में यह कहना कि वो आवाज उसी पनडुब्बी की थी गलत होगा.

लापता जहाज जिसे टाइटन के नाम से जाना जाता है, ने वैश्विक आकर्षण पैदा कर दिया है. ऐसा इसलिए भी क्योंकि जहाजों और विमानों के एक अंतरराष्ट्रीय बेड़े ने कनेक्टिकट के आकार से दोगुने आकार के उत्तरी अटलांटिक के क्षेत्र को बेतहाशा छान मारा गया. टाइटन की अनुमानित 96 घंटे की ऑक्सीजन आपूर्ति शून्य हो जाने के कारण बचावकर्मी उसकी तलाश में लगातार लगे रहे.

बता दें कि टाइटन पर ब्रिटेन के 58 वर्षीय हामिश हार्डिंग, निवेश फर्म एक्शन ग्रुप के संस्थापक और एक शौकीन साहसी व्यक्ति थे; फ्रांसीसी समुद्री विशेषज्ञ पॉल-हेनरी नार्जियोलेट, 77; स्टॉकटन रश, 61, एवरेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, वाशिंगटन स्थित ओशनगेट इंक, जिसने अभियान चलाया; और 48 वर्षीय शहजादा दाऊद और 19 वर्षीय सुलेमान दाऊद सवार थे.