भारत में हो चुकी कोरोना के BF-7 वेरिएंट की एंट्री, नए वेरिएंट से चीन की हालत खराब

0
55

चीन में कोरोना की ये लहर ओमिक्रान के BF7 वेरिएंट के चलते आई है। चीन में कोरोना के नए विस्फोट के बीच यह वेरिएंट भारत भी पहुंच चुका है। गुजरात में दो तो ओडिशा में एक मरीज BF.7 वेरिएंट से पीड़ित मिला है। अब लोगों के मन में ये बात आ रही है कि आखिर ये BF7 वेरिएंट क्या है और ये इतना खरतनाक क्यों है। आइए जानें इसके बारे में और इसके लक्षण।

Corona के BF.7 वेरिएंट को कई काफी खतरनाक माना जाता है। कोई भी वायरस जब म्यूटेट होता है तो वे अपने वेरिएंट और सब-वेरिएंट बनाते हैं। इसी तरह SARS-CoV-2 वायरस कोरोना का मुख्य तना है और उसके अलग-अलग वेरिएंट और सब-वेरिएंट हैं। BF.7 भी BA.5.2.1.7 की तरह हैं, जो ओमीक्रोन का सब-वेरिएंट है। सेल होस्ट एंड माइक्रोब जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है कि BF.7 सब-वेरिएंट में ओरिजिनल D614G वेरिएंट की तुलना में 4.4 गुना ज्यादा न्यूट्रलाइजेशन रेजिस्टेंस है। इसके चलते लोगों के अंदर मौजूद एंटीबाडी BF.7 को नष्ट करने में बहुत कम सक्षम है।

भारत में भी BF.7 वेरिएंट की एंट्री हो चुकी है, लेकिन यह ज्यादा खतरनाक नहीं है। जनवरी 2022 में भारत में कोरोना की लहर ओमीक्रोन के BA.1 और BA.2 सब-वेरिएंट से आई थी। वर्तमान में एक वेरिएंट XBB भारत में सबसे ज्यादा खतरनाक माना जा रहा है और यह नवंबर में 65.6 फीसदी मामलों के लिए जिम्मेदार था।