कोरोना वायरस के नए स्वरूप से बढ़ी पीएम मोदी की चिंता, महत्वपूर्ण बैठक कर की चर्चा…

0
86

देश में कोरोना वायरस के मामलों में भले ही कमी आई हो लेकिन अभी भी इसको लेकर चिंताएं बढ़ती जा रही हैं। हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस का नया स्वरूप पाया गया है। जिसको विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की एक समिति द्वारा ओमीक्रॉन का नाम दिया गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा इस स्वरूप को ‘बेहद संक्रामक चिंताजनक स्वरूप’ बताया गया है। जिसके चलते अब सभी देशों ने चिंता जाहिर की है। इन देशों में एक भारत भी है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस वेरिएंट पर चर्चा करने के लिए आज एक बैठक की है।

इस बैठक को लेकर एक अधिकारी ने बताया ने बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बैठक में कोविड-19 की ताजा स्थिति और जारी टीकाकरण अभियान की समीक्षा के लिए शनिवार को एक अहम बैठक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि “कोविड-19 और टीकाकरण अभियान की स्थिति के मद्देनजर प्रधानमंत्री आज पूर्वाह्न 10.30 बजे से शीर्ष अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक कर रहे हैं। गौरतलब हैं कि देश में अब मामले में भारी गिरावट आई है। हर रोज देश में 8 हजार से 9 हजार के करीब मामले दर्ज किए जा रहे हैं। बीते दिन भी देश में 8,318 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं।

वहीं, बीते 24 घंटों में 10,967 लोग कोरोना वायरस को मात देकर ठीक हो गए। देश में रिकवरी रेट में भी इजाफा हो रहा है। रिकवरी रेट बढ़कर 98.34 फीसद तक पहुंच गई है। आपको बता दें कि देश में फिलहाल कुल मामलों के 0.31 फीसद सक्रिय मामले बचे हैं। सक्रिय मामलों की संख्‍या 1,07,019 बची है। बता दें कि इस दौरान देश में कोरोना वैक्सीनेशन को सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जिसके कारण टीकाकरण अभियान तेजी से चलाया जा रहा है।