कोरोना से बिगड़ते हालात पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को भेजा नोटिस, पूछा ये सवाल…

0
65

देश भर में बढ़ता कोरोना का संकट हर किसी के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। जैसे जैसे कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं, वैसे ही लोगों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। बीते कुछ दिनों से हर दिन देश में कोरोना ने मामलों में रिकॉर्ड टूट रहे हैं। बीते दिन देश में कोरोना से संक्रमित तीन लाख से भी ज्यादा मरीज दर्ज किए गए। जिसके साथ ही देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,59,30,965 हो गई। देश में बिगड़ते हालात पर अब सुप्रीम कोर्ट ने भी सरकार से सवाल पूछना शुरू कर दिए हैं। बता दें कि बढ़ते मामलों के बीच सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कोविड-19 की मौजूदा स्थिति पर स्वत: संज्ञान लिया है।

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इस दौरान सुनवाई के बाद कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस भी भेजा है। कोर्ट ने देश में हो रही ऑक्सीजन की आपूर्ति पर स्वत: संज्ञान लिया। हालांकि सीजेआई एसए बोबडे ने इस मामले की सुनवाई को कल तक के लिए टाल दिया है। कोर्ट ने कहा कि “कोवि़ड-19 संबंधित मुद्दों पर छह अलग-अलग हाईकोर्ट्स का सुनवाई करना किसी तरह का भ्रम पैदा कर सकता है। कोर्ट ऑक्सीजन, आवश्यक दवाओं की आपूर्ति और टीकाकरण के तरीकों से जुड़े मुद्दों पर राष्ट्रीय नीति चाहता है।”

गुरुवार को सामने आए ताजा आंकड़ों के अनुसार बीते दिन देश भर में 3,14,835 कोरोना के मरीज दर्ज हुए। इसके साथ ही इस दौरान 2104 लोगों ने इस वायरस से संक्रमित होकर अपनी जान गवां दी। जिसके बाद देश में इस वायरस की वजह से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 1,84,657 हो गई। मृत्यु दर 1.16 प्रतिशत हो गयी है। वहीं इस समय देश में वायरस से ठीक होने की दर 84.46 प्रतिशत है। गौरतलब हैं कि तेज़ी से मामलों में बढ़ोतरी आने के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे संक्रमित देश बन गया है।