कोरोना संक्रमण के बीच सरकार की नई गाइडलाइन, सिर्फ एक मास्क से नहीं रुकेगा कोरोना, 10 मीटर तक…

0
93

कोरोना वायरस की इस बीमारी ने लोगों को परेशान कर रखा है। हर कोई इस बीमारी के नाम से घबराने लगा है। अब तक इस वायरस ने लाखों लोगों की जान ले ली है और अब भी लगातार लोगों के मरने की खबर सामने आ रही है। भारत में इसकी दूसरी लहर ने और भी ज्यादा तबाही मचा रखी है। तेज़ी से बढ़ते मामलों के साथ भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा संक्रमित देश बन गया है। इस बीच देश में कई गाइडलाइंस जारी की जा रही हैं। इनमें लोगों को इस वायरस से बचने के तरीकों के बारे में भी बताया जा रहा है। हाल ही में केंद्र सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार के. विजय राघवन के दफ्तर से एक और गाइडलाइन जारी की गई है।

इसमें बताया गया है कि वायरस से बचने के लिए जितना जरूरी मास्क लगाना है, उतना ही जरूरी सोशल डिस्टेंसिंग भी है। गाइडलाइन में बताया गया है कि सिर्फ मास्क लगाने से कोरोना से सुरक्षित नहीं हैं। अगर हमें इस वायरस से बचना है तो हमे सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा। गाइडलाइन के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति छींकता और खांसता है तो वो 10 मीटर दूर खड़े व्यक्ति पर भी असर कर सकती है। खांसी और छींक के जरिए वायरस हवा में 10 मीटर दूर तक जा सकता है।

सिर्फ इतना ही नहीं बल्की जमीन पर गिरे छींक और खांसी से निकले कण भी संक्रमण का कारण हो सकते हैं। बता दें कि सिर्फ एक मास्क से भी आप संक्रमण को नहीं रोक सके हैं। गाइडलाइन में कहा गया कि कोरोना से बचने के लिए डबल मास्क या फिर N95 मास्क पहनना चाहिए। अगर आप कॉटन के कपड़े का मास्क इस्तेमाल करते हैं तो आप पूरी तरह संक्रमण से सुरक्षित नहीं हैं। कोरोना से बचाव के लिए आपको कॉटन के कपड़े के 2 मास्क लगाने होंगे। वहीं अगर आप सर्जिकल मास्क इस्तेमाल करते हैं तो एक मास्क से भी अपनी सुरक्षा को बढ़ा सकते हैं।