कोरोना संक्रमण के बीच EC का बड़ा फैसला, चुनावी रैलियों और रोड शो पर बैन रहेगा बरकरार…

0
88

देश में कोरोना का खतरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में भारत सरकार और राज्य सरकार की चिंता और भी ज्यादा बढ़ती जा रही है। बता दें कि बीते 24 घंटों में देशभर में कोरोना के 2 लाख के करीब मामले सामने आए हैं। जिसको देखते हुए चुनाव आयोग ने एक और बड़ा फैसला लिया है। बताते चलें कि अगले महीने से देश में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। जिसको लेकर चुनाव आयोग की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। ऐसे में अब चुनाव आयोग ने बढ़ते कोरोना के संकट को देखते हुए रैलियों और रोडशो पर लगे प्रतिबंध को बढ़ा दिया है।

इससे पहले चुनाव की तारीख को जारी कर चुनाव आयोग ने रैलियों और रोडशो पर भी रोक लगा दी थी। तब ये प्रतिबंध केवल एक हफ्ते के लिए लगाया गया था। जिसके बाद इसको 15 जनवरी तक बढ़ा दिया गया। लेकिन जब कोरोना का कहर और भी ज्यादा बढ़ गया तो इसको 15 जनवरी से 22 जनवरी कर दिया और फिर 28 जनवरी तक इस प्रतिबंध को बढ़ाया गया। लेकिन अब एक बार फिर इस प्रतिबंध को आगे बढ़ाते हुए 11 फरवरी कर दिया है।

बता दें कि इस दौरान चुनाव प्रचार और बैठकों के लिए लोगों की संख्‍या बढ़ा दी गई है। पहले फिजिकल पब्लिक मीटिंग के लिए अधिकतम 500 लोगों के शामिल होने की इजाजत थी। लेकिन अब ये संख्या बढ़ाकर 1000 कर दी गई है। वहीं, दूसरी ओर डोर-टू-डोर कैंपेन के लिए भी चुनाव आयोग ने लोगों की सीमा बढ़ा दी है। जानकारी के अनुसार अब प्रताशी 20 लोगों के साथ डोर टू डोर कैंपेन कर सकता है। बता दें कि सुरक्षाकर्मी इस संख्या में शामिल नहीं हैं।