कोरोना को लेकर AIIMS के डॉक्टर गुलेरिया ने कह दी बड़ी बात, ‘वैक्सीन आने से पहले ही खुद…’

0
96

दुनिया भर में फैले कोरोनावायरस की वैक्सीन का निर्माण अब तक नहीं हो पाया है। लेकिन जल्दी ही इसकी वैक्सीन आने का अंदाज़ा लगाया जा रहा है। बहुत से देशों में इसकी वैक्सीन का ट्रायल पूरा होने वाला है। जिसके चलते इसकी वैक्सीन जल्दी ही आने की बात कही जा रही है। इस बीच एम्स (AIIMS) के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया (Randeep Guleria) ने एक राहत भरी बात कहीं है। उन्होंने कहा कि भारत के मौजूदा हालात को देखते हुए अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि देश में कोरोना वैक्सीन (Corona vaccine) आने से पहले ही भारतीयों में रोग प्रतिरोधक क्षमता हासिल हो सकती है।

देश में कुछ समय से कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी गिरावट आई है जिसको देखते हुए डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि “जिस तरह का ट्रेंड देखने को मिल रहा है उसे देखने के बाद हम ये कह सकते हैं कि देश में कोविड वैक्सीन आने से पहले भारतीयों में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो सकती है, बशर्ते वायरस अपना रूप न बदले। आने वाले कुछ ही समय में हम ऐसे चरण में पहुंच सकते हैं जहां देश के नागरिकों में रोग प्रतिरोधक क्षमता इतनी बढ़ सकती है कि उन्हें वैक्सीन की जरूरत ही न पड़े।”

गौरतलब है कि शुरुआती दौर में देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बहुत ज़्यादा थी। जिसके मुकाबले में अब काफी गिरावट आई है। जिसको देखते हुए उन्होंने कहा कि “कोरोना के कम हो रहे मामले राहत की बात हैं, लेकिन ठंड के मौसम में अभी और सतर्क रहने की जरूरत है। ठंड के मौसम में प्रदूषण के कारण कोरोना वायरस उसके साथ मिलकर ज्यादा समय तक हवा में रह सकता है जो एक खतरे की घंटी है। ठंड में कोरोना के संक्रमण से बचना है तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन, मास्क लगाने की आदत और समय समय पर हाथ धुलने की आदत को अपनी जिंदगी में शामिल करना होगा।”