कोरोना के मामलों में आई गिरावट के बाद भी नहीं हटेगा वीकेंड कर्फ्यू, केजरीवाल के प्रस्ताव से सहमत नहीं…

0
82

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे हैं। लेकिन कुछ राज्य ऐसे हैं, जहां मामलों के गिरने की संख्या बढ़ रही है। दिल्ली ऐसा राज्य है जहां कुछ दिनों पहले कोरोना के मामले तेजी के साथ बढ़ रहे थे। लेकिन अब मामलों में गिरावट दर्ज की जा रही है। जब दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़े तो दिल्ली सरकार ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी। लेकिन अब जब कोरोना पर नियंत्रण पाया जा रहा है तो दिल्ली सरकार ने पाबंदियां हटाने का फैसला किया है। बता दें कि मामलों में आई गिरावट को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वीकेंड कर्फ्यू हटाने की अपील की है। केजरीवाल ने वीकेंड कर्फ्यू हटाने का प्रस्ताव उपराज्यपाल (LG) अनिल बैजल को दिया है।

बताते चलें कि सीएम केजरीवाल के प्रस्ताव से उपराज्यपाल (LG) अनिल बैजल सहमत नहीं हैं। उन्होंने फिलहाल वीकेंड कर्फ्यू हटाने से इंकार कर दिया है। सूत्रों की मुताबिक उपराज्यपाल निजी दफ्तरों को 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलाने पर सहमत हैं। लेकिन उन्होंने वीकेंड कर्फ्यू हटाने से फिलहाल साफ मना कर दिया है। केजरीवाल ने उपराज्यपाल को भेजे गए प्रस्ताव में लिखा कि “दिल्ली से वीकेंड कर्फ्यू हटाया जाए। साथ ही निजी दफ्तर 50 फीसदी क्षमता के साथ चलने की अनुमति दी जाए और बाजारों से ऑड-ईवन हटाया जाए।”

दिल्ली में कोरोना के हालात पर चर्चा करने के लिए राज्य के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी लगातार सामने आ रहे हैं। हालात पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि “आज कोरोना मामले 10,500 और पॉजिटिविटी रेट 17.5% पर आ गया है। अब पीक निकलता दिख रहा है। मामले कम हो रहे हैं। जब कोरोना के मामले ज्यादा आए थे तो सख्ती करनी पड़ी थी, अब मामले कम आ रहे हैं इसको देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ निर्णय लिए हैं- वीकेंड कर्फ्यू हटा दिया जाएगा, प्राइवेट ऑफिस अब 50% स्टाफ को दफ़्तर बुला सकते हैं और बाजारों में ऑड ईवन की व्यवस्था वापस ली जाएगी।”