कोरोना काल के बीच पीएम मोदी का संबोधन, संक्रमण को रोकना है और…

0
69

देश में तेज़ी से बढ़ते मामलों के साथ भारत दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा प्रभावित देश बन गया है। भारत ने इस दौरान 16.6 मिलियन कोरोना के मामलों के साथ ब्राजील को पीछे छोड़ दिया है। इस महामारी के बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पंचायती राज दिवस के मौके पर डिजिटल माध्यम से लोगों को संबोधित भी किया है। पीएम ने इस दौरान कोरोना के बढ़ते मामलों पर बातचीत की, साथ ही उन्होंने कहा कि हम लोगों को देखना होगा कि वायरस गांव तक नहीं पहुंचे।

उन्होंने कहा कि “इस वर्ष कोरोना की चुनौती है वह पहले से ज्यादा है और गांव तक इस संक्रमण को नहीं पहुंचने देना है। इसे रोकना है। आपके पास संकट से बचने की अब ज्यादा जानकारी है, गांवों में कोरोना से बचने के प्रोटोकॉल को लागू करना बेहद जरूरी है।” संबोधन को जारी रखते हुए पीएम मोदी ने कहा कि “विश्वास है गांव का नेतृत्व करने वाले लोग कोरोना को रोकने में सफल हो गए। हर गरीब को मई और जून में मुफ्त अनाज मिलेगा इसका फायदा 80 करोड़ से ज्यादा नागरिकों को मिलेगा। इस बार भारत सरकार 26000 करोड़ से ज्यादा खर्च करेगी।”

इस बीच पीएम मोदी ने वैक्सीनेशन का भी जिक्र किया। उन्होंने टीकाकरण के तीसरे चरण के बारे में बात करते हुए कहा कि “1 मई से 18 साल से ऊपर के सभी नागरिकों का टीकाकरण शुरू होगा। हमारे पास वैक्सीन का सुरक्षा कवच है. हमें यह सुनिश्चित करना है कि गांव के हर व्यक्ति को वैक्सीन की दोनों खुराक लगे।” पीएम ने आगे कहा कि “आप सभी साथियों की मदद से कि टीकाकरण का यह अभियान सफल होगा।” गौरतलब हैं कि देश में हर रोज 3 लाख से भी ज्यादा मरीजों की पुष्टि हो रही है। जिसके कारण भारत सरकार समेत आम आदमी भी परेशान है।