BSF की ताकत बढ़ाने पर कांग्रेस ने साधा केंद्र पर निशाना, कहा “गुजरात ड्रग्स केस से…”

0
122

केंद्र सरकार द्वारा पंजाब में अंतरराष्ट्रीय सीमा से 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी लेने और गिरफ्तारी करने का अधिकार देने पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है। केंद्र के इस फैसले के बाद एक बार फिर कांग्रेस और भाजपा आमने सामने आ गई हैं। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने केंद्र के इस फैसले की आलोचना करते हुए एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने दावा किया कि केंद्र अपने इस फैसले के जरिए लोगों का ध्यान भटकना चाहती है। केंद्र का ये फैसला गुजरात में अडाणी द्वारा संचालित मुंद्रा पोर्ट (Mundra Port Drugs Case) के जरिये हेरोइन की आवाजाही से ध्यान हटाने की कोशिश है।

रणदीप सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में लिखा कि “25,000 किलोग्राम हेरोइन ड्रग्स गुजरात के अडानी पोर्ट के माध्यम से 9/6/2021 को आई। 3000 किलोग्राम हेरोइन ड्रग्स गुजरात के अडानी पोर्ट से 13/9/2021 को पकड़ी गई। लेकिन पंजाब में बीएसएफ का अधिकार क्षेत्र एकतरफा 15 किलोमीटर से बढ़ाकर 50 किलोमीटर किया गया। संघीयता खत्म, षड्यंत स्पष्ट।” बता दें कि केंद्र के इस फैसले के खिलाफ रणदीप सुरजेवाला से पहले पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी आवाज उठाई थी।

उन्होंने एक ट्वीट के जरिए गृह मंत्रालय के इस फैसले को पंजाब के साथ धोखा बताया। उन्होंने कहा कि पंजाब को अपने कब्जे में करने के लिए केंद्र की ये एक साजिश है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने अपने ट्वीट में लिखा कि “मैं अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से लगे 50 किलोमीटर के दायरे में बीएसएफ को अतिरिक्त अधिकार देने के सरकार के एकतरफा फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जो संघीय ढांचे पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं।” बता दें कि केंद्र सरकार ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) कानून में संशोधन कर इसे पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से मौजूदा 15 किलोमीटर की जगह 50 किलोमीटर के बड़े क्षेत्र में तलाशी लेने, जब्ती करने और गिरफ्तार करने की शक्ति दे दी है।