UPI को लेकर आया बड़ा अपडेट, जानें क्यों है ख़ास

0
112

RBI ने गुरूवार को देश के करोड़ों लोगों को बड़ा तोहफा दिया है. अब लोग बिना इंटरनेट के ऑफलाइन भी UPI के जरिये पैसे भेज सकते हैं. दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने UPI लाइट को लेकर RBI क्रेडिट पॉलिसी का ऐलान करते हुए कहा कि अब बिना इंटरनेट के UPI Lite के जरिए यूजर्स 200 के बजाय 500 रुपये तक का पेमेंट कर सकते हैं. RBI के इस बड़े फैसले से अब देश में डिजिटल पेमेंट की पहुंच और ज्यादा बढ़ेगी.

देश ज्यादातर लोग हर छोटी-बड़ी पेमेंट के लिए UPI का इस्तेमाल करते हैं. कई बार इंटरनेट या सर्वर में दिक्कत की वजह से पेमेंट फंस जाती थी. ऐसे में ऑफलाइन UPI इस्तेमाल से लोगों को अब इस समस्या से राहत मिलेगी. RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि डिजिटल पेमेंट एक्सपीरियंस को बेहतर बनाने के लिए AI जैसी टेक्निक का इस्तेमाल किया जा रहा है. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम को जोड़ने में मदद करेगा और यूजर्स के अनुभव को बेहतर बनाएगा.

क्यों बढ़ाई ट्रांजैक्शन लिमिट?

यूपीआई लाइट की लिमिट को बढ़ाने के पीछे मुख्य कारण यह है कि लोग आम दिनों में छोटे ट्रांजैक्शन के लिए भी यूपीआई का इस्तेमाल करने में सक्षम बन सके. यूपीआई लाइट के लॉन्चिंग के बाद से ही इसकी लेनदेन की लिमिट को बढ़ाने की मांग की जा रही थी. ऐसे में यूजर्स की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने अब इसकी लिमिट को बढ़ाकर 500 रुपये कर दिया है.

क्या है UPI लाइट?

आमतौर पर यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के जरिये पेमेंट करने के लिए इंटरनेट की जरूरत पड़ती है, लेकिन यूपीआई लाइट के जरिये यूजर्स 500 रुपये तक का पेमेंट बिना इंटरनेट के भी कर सकते हैं. यह एक एक ऑन डिवाइस वॉलेट सुविधा है जिसमें यूजर्स रियल टाइम में छोटे अमाउंट का पेमेंट बिना यूपीआई पिन के कर सकते हैं. RBI ने यूपीआई लाइट में मैक्सिमम 2,000 रुपये तक का बैलेंस रखने की सुविधा दी है.