भू’ल कर भी ये लोग ना पहनें मास्क,बेहद ख’तरनाक

0
362

विश्व भर में कोरोनावायरस का प्र’कोप बढ़ता जा रहा है, ऐसे में सोशल डि’स्टेंसिंग को बनाये रखना और मास्क लगाना बेहद जरूरी हो गया है।ऐसे में कुछ ऐसे लोग भी हैं जिनके लिए मास्क पहनना ख’तरे से कम नहीं है, जी हां ब्रिटेन के एक्सपर्ट्स ने बताया है कि जो लोग लंग्स और अस्थमा की बीमारी से जूझ रहे हैं उनके लिए मास्क पहनना बेहद खत’रनाक है क्योंकि मास्क पहनने से उनमें सांस लेने की त’कलीफ हो जाती हैं।

दरअसल कोरोनावायरस के खतरे को कम करने के लिए डब्ल्यूएचओ के द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस में सोशल डिस्टेंसिंग को बनाए रखने और मास्क पहनने को सबसे महत्वपूर्ण उपाय बताया गया हैं, क्योंकि इससे ही वायरस के फ़ैलाव को रो’का जा सकता है। इसी को ध्यान में रखते हुए पिछले हफ्ते ब्रिटेन के सरकार ने लोगों के बीच में 2 मीटर की दूरी और मास्क पहनने को अनिवार्य बताया था।लेकिन अब एक्सपर्ट की राय में अस्थमा और लंग्स की बीमारी वाले मरीजों के लिए ये नियम ख’तरनाक साबित हो सकता है।

जाहिर है कि मास्क चेहरे पर लगाने से वह मुंह और नाक को पूरी तरीके से ढक लेता है।ऐसे में टा’इट मास्क होने से उन्हें सांस लेने में तकलीफ का सामना करना पड़ सकता है।एक्सपर्ट बता रहे हैं कि सरकार ने कहा है कि जिन्हें सांस लेने में समस्या होती है, उन्हें मास्क पहनने की जरूरत नहीं है।अगर आपको इससे मु’श्किल होती है तो आप इसे नहीं पहनें।

वहीं डॉक्टरों ने बताया है कि यहां तक कि मरीजों का इलाज करते वक्त उन्हें मास्क पहनने में तकलीफ होती है।एक्सपर्ट का कहना है कि गर्मी के दिन हैं।ऐसे में जब आप दिन में बाहर निकलते हैं तो गर्म हवा की वजह से भी सांस लेने में तकलीफ हो सकती है।इसलिए अस्थमा, COPD, सिस्टिक फाइब्रोसिस, क्रोनिक ब्रोंकाइटिस और लंग कैंसर के मरीजों को मास्क पहनने में दि’क्कत हो सकती है और सांस लेने में काफी अ’सुविधाजनक होगा और उनके लिए मास्क पहना ख’तरनाक हैं।