बृजभूषण के खिलाफ पहलवान एकजुट, नेशनल चैंपियनशिप का कई खिलाड़ियों का बायकॉट

0
18

नई दिल्ली : रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया(WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण पर देश की कई बड़ी महिला पहलवान द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने के बाद मामला अब बढ़ता जा रहा है। पहलवानों द्वारा किए जा रहे विरोध प्रदर्शन को अब दूसरे खिलाड़ियों का भी साथ मिल रहा है। कई खिलाड़ी ने इसके चलते नेशनल चैंपियनशिप का बायकॉट कर दिया है और जंतर मंतर के लिए रवाना हो गए हैं। इस बीच बृजभूषण शरण सिंह भी अपने गरम तेवर दिखाए हैं। उन्होंने साफ कह दिया है कि वे इस्तीफा नहीं देंगे। बृजभूषण इस विवाद पर आज दोपहर 5 बजे उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले के नवाबगंज स्थित कुश्ती प्रशिक्षण केंद्र में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करने वाले हैं।

बृजभूषण शरण आज दोपहर 5 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। बृजभूषण ने ट्वीट कर कहा है कि इस कॉन्फ्रेंस में वे उनके खिलाफ हो रही साजिश का पर्दाफाश करेंगे। उन्होंने कहा कि मेरी अभी तक किसी से बात नहीं हुई है और न ही मैं कोई इस्तीफा देने वाला हूं।  बृजभूषण ने इस बीच पहलवानों पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर वे मुंह खोलेंगे तो सुनामी आ जाएगी। बता दें कि दिल्ली ओलिंपिक व अन्य अंतरराष्ट्रीय पदक विजेता पहलवान शुक्रवार को तीसरे दिन भी जंतर-मंतर पर धरने पर बैठेंगे। वे भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष और कैसरगंज से भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह से इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

प्रदर्शन में शामिल पहलवान विनेश फोगट, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, रवि दहिया और दीपक पुनिया ने शुक्रवार को भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटी उषा को रेसलिंग फेडरेशन इंडिया के अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न को लेकर लिखा है। उषा को लिखे पत्र में स्टार पहलवानों ने डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष पर यौन शोषण और वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाया है। भारतीय कुश्ती महासंघ के खिलाफ दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहलवानों के विरोध प्रदर्शन में मुक्केबाज विजेंदर सिंह भी शामिल हुए। उन्होंने कहा कि मैं आज यहां पहलवानों से मिलने आया हूं और सभी के साथ हमेशा खड़ा रहूंगा।

सर्वाधिक आक्रोशित नजर आ रहीं ओलिंपियन विनेश फौगाट ने कहा कि बृजभूषण का त्यागपत्र लेंगे और जेल भी भिजवाएंगे। जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं, प्रदर्शन जारी रहेगा। हमारी जान चली जाए मंजूर है, लेकिन कुश्ती के भविष्य को संवारकर ही दम लेंगे। बीते दिन केंद्र सरकार की ओर से पूर्व पहलवान बबीता फौगाट जंतर-मंतर पर पहुंचीं और प्रदर्शन कर रहे पहलवानों को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। उनके साथ बजरंग पुनिया और साक्षी मलिक ने सरकार के प्रतिनिधियों से भेंट की।

वार्ता का कोई ठोस नतीजा नहीं निकला तो प्रेस कान्फ्रेंस में पहलवानों ने नाराजगी जाहिर की। विनेश ने कहा कि हमने बृजभूषण शरण सिंह पर जो इल्जाम लगाए हैं वो पूरी तरह से सही हैं। कल तक हमारे साथ एक महिला पहलवान थी, लेकिन अब चार से पांच पहलवान हैं, जिनके साथ गलत हुआ है। हमें सामने आने के लिए मजबूर नहीं किया जाए। हम सम्मान को बचाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। सबके सामने यह नहीं कहना चाहते कि हमारे साथ क्या-क्या हुआ है। हम कानूनी तरीके से आगे नहीं जाना चाहते, लेकिन समाधान नहीं निकला तो एफआइआर भी दर्ज कराएंगे। अगर हम जैसे पहलवानों के साथ ऐसा हो रहा है तो बाकी लड़कियां कितनी सुरक्षित हैं। अगर हम भी सुरक्षित नहीं हैं तो हिंदुस्तान में एक भी लड़की का जन्म नहीं होना चाहिए।

बजरंग पुनिया भी बीते दिन धरने में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि कुश्ती संघ को भंग किया जाए। अगर वह इस्तीफा दे भी देते हैं तो फिर अपने लोगों को वहां बिठा देंगे। वहीं, साक्षी मलिक ने कहा कि हमें केरल और महाराष्ट्र की महिला पहलवानों के फोन आ रहे हैं, जिनके साथ गलत हुआ है। उन्होंने कहा कि मैं पीएम नरेन्द्र मोदी से गुहार लगाती हूं कि न्याय किया जाए। अंशु मलिक ने कहा कि पाप का घड़ा भर चुका है। कुश्ती संघ में सब भ्रष्ट हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here