उत्तराखंड संस्कृत शिक्षा बोर्ड का परीक्षा परिणाम घोषित

0
24
  • पूर्वमध्यमा में 89.58 तथा उत्तरमध्यमा में 87.38 फीसदी रहा रिजल्ट.

  • शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने वर्चुअल माध्यम से जारी किया परिणाम.

  • सूबे में 1579 छात्र-छात्राओं ने दी संस्कृत बोर्ड की परीक्षाएं.

देहरादून : उत्तराखंड संस्कृत शिक्षा बोर्ड की 10वीं एवं 12वीं कक्षाओं के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिये गये हैं। सूबे के संस्कृत शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने वर्चुअल माध्यम से जुड़ कर बोर्ड परीक्षओं के परिणाम जारी किये। उन्होंने बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण एवं श्रेष्ठता सूची में स्थान प्राप्त करने वाले सभी छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को बधाई दी।

इसके अलावा उन्होंने बोर्ड परीक्षाओं में असफल छात्र-छात्राओं को जीवन में कतई भी निराश न होने की बात कही और फिर से तैयारी में जुट जाने को कहा। डा. रावत ने बताया कि वर्ष 2023 में कुल 1579 छात्र-छात्राओं ने संस्कृत बोर्ड की परीक्षा दी, जिसमें से इंटरमीडिएट में 87.38 प्रतिशत जबकि हाईस्कूल में 89.58 प्रतिशत छात्र-छात्राएं सफल हुये।

सूबे के संस्कृत शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने बताया कि संस्कृत बोर्ड परीक्षा का परीक्षा परिणाम समय पर जारी कर दिया गया है। इसके लिये उन्होंने विभागीय अधिकारियों एवं बोर्ड परीक्षा के आयोजन से जुड़े कार्मिकों की पीठ थपथपाई। संस्कृत बोर्ड परीक्षा परिणाम घोषित करने के अवसर पर वर्चुअल माध्यम से जुड़े विभागीय मंत्री डॉ. रावत ने बताया कि इस वर्ष परिषदीय परीक्षा में कुल 1579 छात्र-छात्राएं सम्मिलित हुये, जिसमें से पूर्वमध्यमा द्वितीय (हाईस्कूल) में 634 जबकि उत्तरमध्यमा द्वितीय (इंटरमीडिएट) में 945 शामिल थे।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष पूर्वमध्यमा द्वितीय (हाईस्कूल) का कुल परीक्षाफल 89.58 फीसदी रहा जबकि उत्तरमध्यमा द्वितीय (इंटरमीडिएट) का रिजल्ट 87.38 फीसदी रहा है। डा. रावत ने परिषदीय परीक्षा में उत्तीर्ण एवं प्रवीणता सूची में स्थान प्राप्त करने वाले सभी छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों को शुभकामनाएं प्रेषित की, साथ ही उन्होंने बोर्ड परीक्षा उत्तीर्ण करने में असफल रहे छात्र-छात्राओं को निराश न होने की बात कही, उन्होंने कहा कि असफलता से ही सफलता का मार्ग प्रशस्त होता है। इसलिये एक बार फिर से बोर्ड परीक्षओं की तैयारी के लिये जुट जायें ताकि अगले वर्ष बेहतर अंकों के साथ बोर्ड परीक्षा में उत्तीर्ण हो सके।

उत्तराखंड संस्कृत शिक्षा निदेशक डा. एस.पी. खाली ने बताया कि बोर्ड परीक्षा का परीक्षाफल आज हरिद्वार स्थित संस्कृत शिक्षा परिषद में घोषित किया गया। उन्होंने बताया कि विभागीय मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत के मार्गदर्शन में इस वर्ष की परिषदीय परीक्षा को तय समय सीमा के अंतर्गत पूरा किया गया और छात्र-छात्राओं की परीक्षाओं का मूल्यांकन कर पारदर्शिता के साथ परीक्षा परिणाम माननीय मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत की वर्चुअल उपस्थिति में घोषित कर दिया गया है। परीक्षा का परीणाम विभागीय वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है, जहां से छात्र-छात्राएं सुविधानुसार अपना-अपना परीक्षा परिणाम देख सकेंगे।

संस्कृत बोर्ड परीक्षा में ये रहे अव्वल
उत्तराखंड संस्कृत शिक्षा परिषद की 10वीं बोर्ड परीक्षा की श्रेष्ठता सूची में दुर्गादत्त कपिलाश्रमी संस्कृत महाविद्यलय हल्द्वानी, नैनीताल के छात्र जय पपनै ने 87.4 फीसदी अंक प्राप्त कर सर्वोच्च स्थान हासिल किया जबकि 87.2 प्रतिशत अंक हासिल कर श्री जयदयाल अग्रवाल संस्कृत विद्यालय श्रीनगर गढ़वाल के छात्र अभिषेक मंमगाई ने द्वितीय स्थान पर प्राप्त किया।

वहीं 86.6 फीसदी अंक प्राप्त कर श्री भारती संस्कृत विद्यालय कनखल हरिद्वार के सुबोध व्यास तीसरे स्थान पर रहे। इसी प्रकार इंटरमीडिएट में ब्रिगेडियर विद्याधर जुयाल संस्कृत विद्यालय भुवनेश्वरी सिद्धपीठ झांजण, सितोनस्यूं पौड़ी गढ़वाल के छात्र अजय कैंथोला ने 82.4 प्रतिशत अंक लाकर सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया।

वहीं श्रेष्ठता सूची में दूसरे स्थान पर श्री स्वर्गाश्रम ट्रस्ट संस्कृत विद्यालय स्वर्गाश्रम पौड़ी गढ़वाल के छात्र सुधेश बडोनी एवं दुर्गादत्त कपिलाश्रमी संस्कृत महाविद्यालय हल्द्वानी के छात्र लोकेश चन्द्र बडसिलिया ने 82.2 अंक लाकर संयुक्त रूप से दूसरा स्थान प्राप्त किया, जबकि तीसरे स्थान पर श्री रघुनाथ कीर्ति आदर्श संस्कृत महाविद्यालय देवप्रयाग के छात्र अमन भट्ट ने 81.8 अंक अर्जित कर तीसरा स्थान हासिल किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here