उत्तराखंड : कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को जान से मारने की साजिश, मुकदमा दर्ज

0
8

सितारगंज: उत्तराखंड में पिछले कुछ समय से अपराध अचानक से बढ़ने लगे हैं। छोटे-मोटे अपराध नहीं, बल्कि अंकिता हत्याकांड और केदार हत्याकांड जैसे मामले सामने आ चुके हैं। अब एक ऐसे मामले का खुलासा हुआ है, जो चौंकने और हैरान करने वाला है।इस बार निशाना कोई आम व्यक्ति नहीं। बल्कि, कैबिनेट मंत्री की हत्या की साजिश रची जा रही थी। इस मामले में मंत्री के स्टाफ ने पुलिस से शिकायत की है।

 

कैबिनेट मंत्री एवं राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के बेटे सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश का मामला सामने आया है सितारगंज कोतवाली में केबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश करने के मामले में चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है।

 

कोतवाली पुलिस को दी गई तहरीर में कहा गया है कि हीरा सिह पुत्र चम्बाराम निवासी कोटाफार्म सिसौना थाना सितारगंज जो थाना सितारगंज से गेहूं चोरी के मामले में जेल गया था। बताया जा रहा है कि वो अवैध खनन का कार्य भी करता है। हीरा सिह गेहूं चोरी वाले मामले में उसको को जेल भिजवाने का जिम्मेदार कैबिनेट मंत्री  सौरभ बहुगुणा को मानता है।

 

तहरीर के अनुसार उसने जेल में सतनाम सिह पुत्र बलविन्दर सिह निवासी सिरसाफार्म थाना बहेडी जो थाना किच्छा से अफीम के मामले मे जेल गया था को अपनी घटना बताकर कि मंंत्री सौरभ बहुगुणा ने मुझे जेल भिजवाया है। उनको मारना है चाहे जितना रूपया खर्चा हो जाय।

 

सतनाम सिह अपने दोस्त मो. अजीज उर्फ गुड्डू निवासी किच्छा का नाम लेकर कहता था कि वह बड़ अपराधी है। उसके सम्बन्ध उत्तरप्रदेश के शूटरों के साथ है वह उनसे बात कर लेगा व काम करा देगा। जब तुम बाहर निकलोगे तो हरभजन सिह तुम्हें गुड्डु से मिलवा देगा इस प्रकार हीरा सिह मंत्री की हत्या करने हेतु षडयंत्र कर रहा था।

 

यह बात की जानकारी मंत्री के मंत्री के साथियो को जब मिली तो उन्होंने जानकारी जुटानी शुरू कर दी, जब से हीरा सिह जेल से छूटा तब से उस पर नजर रखते थे इस बीच जब मंत्री सितारगंज में 2 अक्टूबर को आये थे उनके विधानसभा भ्रमण के दौरान कुछ स्थानों पर उसे देखा पुलिस को दी तहरीर में उमाशंकर ने कहा की मै व मेरे साथी लोग जो मंत्री के पास काम करते है उस पर नजर रख रहे थे।

 

उसका कहना है कि इस दौरान उनको जानकारी हुई कि सतनाम सिह पैरोल पर आया है। हीरा सिंह उससे मिल रहा है और हीरा सिंह ने सतनाम सिंह उसके दोस्त हरभजन सिह और एक अन्य व्यक्ति मो. अजीज उर्फ गुड्डू निवासी किच्छा जिसके उत्तर प्रदेश में अपराधियो से सम्पर्क है,के साथ मिलकर अपने षड्यंत्र को अन्तिम रूप देने की योजना बना रहे है।

 

तत्काल उनको गिरफ्तार नहीं किया गया तो वह कोई अप्रिर्य घटना को अंजाम दे सकते हैं। इनके साथ अन्य लोग भी षड्यंत्र में शामिल हो सकते हैं। सीओ सितारगंज ने बताया कि पुलिस ने हीरा सिह, सतनाम सिह, हरभजन सिहं व मो. अजीज उर्फ गुड्डु के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है।