उत्तर प्रदेश में मौसम के तापमा’न में बढ़ोतरी, दिल्ली समेत इन राज्यों में….

0
301

अभी जून के महीना चल रहा है जैसा कि भारत में इन कुछ महीनों मे सबसे ज़्यादा गर्मी पड़ने की संभावनाएं रहती है और गर्मी का मौसम लोगों को इसी लिए भी पसन्द है कि इसी मौसम में आम(mango) आते हैं. उत्तर भारत(north india) के ज़्यादातर हिस्सो में गर्मी के तापमा’न में बढ़ोतरी हुई है और ये बढ़ कर 40डिग्री के करीब पहुंच गया है। वही ईस्ट-वेस्ट भारत से होते हुए पश्चिम बंगाल(west bangal) पहुंच गया, और  भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) द्वारा ये बताया गया है कि शनिवार को दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान में कई जगहों पर अंधी और बारिश होने की संभावना है।

भारत की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गर्मी ने अपना प्रकोप डाल रखा है दिल्ली में शुक्रवार को गर्मी ने लोगों को हिला कर रख दिया शुक्रवार को दिल्ली में 42 डिग्री सेल्सियस तापमा’न को दर्ज किया गया और अभी कुछ ही दिन पहले दिल्ली मे अंधी और बारिश भी आई थी। बताया ये जा रहा है कि सफदरजंग वेधशाला ने मैक्सिमम टेम्परेचर नार्मल से 2 डिग्री ज़्यादा 41.5 DEGREE सेल्सियस दर्ज किया गया है। सफदरजंग वेधशाला के आंकड़ों को ही शहर का ओफ्फिशल आंकड़ा माना जाता है। पालम और पूसा में मौजूद मौसम सेन्टर  ने मैक्सिमम टेम्प्रेचर 42 डिग्री सेल्सियस और 42.7 डिग्री सेल्सियस क्रमशः दर्ज किया गया।

मौसम विभाग द्वारा बतया गया है कि शनिवार के दिन मौसम में बादल छाए रहने और बारिश होने की संभावनाएं हैं। मैक्सिमम और मिनिमम टेम्परेचर क्रमशः 41 डिग्री सेल्सियस और 30 डिग्री सेल्सियस रहने की आशंका है। इसी के चलते बताया ये भी जा रहा है कि मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव का कहना है कि पूरे छेत्र में अभी 15 जून तक लू चलने की भी संभावनाएं नहीं हैं और इसी के चलते दिल्ली के पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में भी कई बड़े हिस्सों में भी बहुत ज़्यादा गर्मी दर्ज की गई। मौसम विभाग का कहना ये भी था कि राज्य में सबसे ज़्यादा गर्मी शहर अगर में दर्ज की गई , जहां का मैक्सिमम टेम्प्रेचर 42 डिग्री सेल्सियस रहा, वही इससे नीचे ताप’मान दर्ज किया जाने वाला शहर झांसी रहा वहां तकरीबन मैक्सिमम टेम्प्रेचर 40.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और वही ज़िला अलीगढ़ में मैक्सिमम टेम्प्रेचर 40.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और हमीरपुर में 40.2 डिग्री सेल्सियस और बरेली में 40 डिग्री सेल्सियस टेम्प्रेचर दर्ज किया गया और तो और मौसम विभाग का कहना ये भी है कि अगले 24 घंटो के अंदर इन जगहों पर बारिश होने की आशंका है।

हरियाणा और पंजाब के अधिकतर जगहों पर मैक्सिमम टेम्प्रेचर नॉर्मल टेम्प्रेचर से ज़्यादा रिकॉर्ड किया गया। मौसम विभाग की रिपो’र्ट के हिसाब से जब उनके रिकॉर्ड को देखा गया तो राज्यों में सबसे ज़्यादा गर्म 42.8 डिग्री सेल्सियस जो कि मैक्सिमम टेम्प्रेचर से 2 डिग्री अधिक है और हरियाणा के नारनौल में मैक्सिमम टेम्प्रेचर 41 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया वही अंबाला में मैक्सिमम टेम्प्रेचर 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और करनाल मैक्सिमम टेम्प्रेचर 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक़ हरयाणा के अंबाला और करनाल दोनों जगहों पर ही टेम्प्रेचर नॉर्मल से 1 डिग्री सेल्सियस ज़्यादा रिकॉर्ड किया गया। वही अगर बात पंजाब के लुधियाना और पटियाला की करि जाए तो वहां मैक्सिमम टेम्प्रेचर 41.3 डिग्री सेल्सियस और 41 डिग्री सेल्सियस क्रमशः दर्ज किया गया। वही अमृतसर में भी मैक्सिमम टेम्प्रेचर 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार देखा जाए तो दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ का टेम्प्रेचर 39.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

गर्मी का प्रकोप अभी सब जगह जारी है वही बात राजिस्थान  की करि जाए तो वहां भी पारा बढ़ता जा रहा है और मौसम विभाग की रिपोर्ट्स के अनुसार राज्य के श्रीगंगानगर में सबसे हाई टेम्प्रेचर दर्ज किया गया जो तकरीबन 45 डिग्री सेल्सियस था और बताया गया कि बिकीनेर में 44.7 डिग्री सेल्सियस मैक्सिमम टेम्प्रेचर दर्ज किया गया। वही जैसलमेर में 43.7 डिग्री सेल्सियस मैक्सिमम टेम्प्रेचर दर्ज किया गया और बाड़मेर और जोधपुर में भी 43 डिग्री सेल्सियस मैक्सिमम टेम्प्रेचर दर्ज किया गया और चूरू, जयपुर और अजमेर में दिन का टेम्प्रेचर क्रमशः 42 डिग्री सेल्सियस, 41.5 डिग्री सेल्सियस और 40.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बता दें कि राज्य की कुछ जगहों पर हल्की बारिश भी हूई। वही बात अगर श्रीगंगानगर की कि जाए तो वहां शुक्रवार के दिन सुबह से लेकर शाम तक तकरीबन 14.2 मिलीमीटर बारिश हुई और वही जोधपुर में 9.4 मिलिमीटर बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग की रिपोर्ट्स के मुताबिक अगले 24 घंटे में भरतपुर, बांसवाड़ा, धौलपुर, डूंगरपुर, झालावाड़, सिरोही, बाड़मेर ,हनुमानगढ़, जोधपुर, जैसलमेर, पाली और जालोर जिलों में कुछ जगहों पर हल्की बारिश की आशंका जताई जा रही है।

मौसम विभाग के हिसाब से इस वक़्त के दौरान बीकानेर, नागौर, चूरू और श्रीगंगानगर में भी लू चलने की पूरी आशंका जताई गई है। वही लकाता में मौजूद क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के हिसाब से अगर देखा जाए तो दक्षिण-पश्चिम मानसून पश्चिम बंगाल (west bangal) प्रदेश के ज़्यादतर हिस्सो में अब पहुंच चुका है और यह हल्की बारिश भी हो रही है और बताया जा रहा है कि क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र का कहना  है कि तटिय आंध्रप्रदेश और ओडिशा के ऊपर  हवा का कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण मॉनसून का राज्य में आगमन हुआ। बताया जा रहा है कि कोलकाता में सुबह साढ़े आठ बजे से 38.4 मिलिमीटर बारिश हुई, और ये बात मौसम विभाग कार्यालय के प्रवक्ता के द्वारा पता चली। इसी के चलते दक्षिण और उत्तर बंगाल के ज़्यादातर शहरों में हल्की बारिश सुबह से हो रही थी मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि, अगले 24 घंटों में इसी तरह का मौसम रहने का अनुमान है।