उरी हमले में चूक पर बड़ी कार्रवाई, ब्रिगेड कमांडर को जांच पूरी होने तक हटाया गया

0
91

नई दिल्लीः उरी हमले में सुरक्षा में चूक पर बड़ी कार्रवाई की गई है. उरी में सेना के 20 जवानों की शहादत के पीछे बड़ी चूक के जिम्मेदार माने जा रहे सेना अधिकारियों पर कार्रवाई शुरू की गई है. इसी के तहत उरी ब्रिगेड के कमांडर अपने पद से हटा दिए गए हैं. रक्षा सूत्रों ने बताया कि ब्रिगेडियर के. सोमशेखर को संवेदनशील ब्रिगेड से हटा दिया गया है. उन्होंने बताया कि सेना की 28 माउंटेन डिवीजन के एक अधिकारी उरी ब्रिगेड के कमांडर के रूप में कार्यभार संभाल रहे हैं.
बताया जा रहा है कि जब तक कोर्ट ऑफ इंक्वायरी पूरी नहीं होती तब तक वो पद पर नहीं रहेंगे. उरी पर हमले को सुरक्षा इंतजाम के पर्याप्त ना होने को भी वजह माना जा रहा है और इसकी वजह से ही उरी ब्रिगेड के कमांडर को अपने पद से हटाया गया है. इस घटनाक्रम पर टिप्पणी मांगने पर सेना के अधिकारियों ने कोई जवाब नहीं दिया.
एबीपी न्यूज के मुताबिक उरी में जहां पर कैंप लगाया गया वहां पर सुरक्षा में चूक हुई जिसकी वजह से आंतकी इतना बड़ा हमला करने और 20 सैनिकों को मौट के घाट उतारने में सफल हो गए. उरी में जहां कैंप था वहां सैनिकों की पेट्रोलिंग ठीक से नहीं की जा रही थी जिसकी वजह से आतंकी कैंप में आग लगाने में कामयाब हुए. हमले में अब तक 20 जवान शहीद हो चुके हैं. सेना की जांच पूरी होने तक उन्हें पद से हटाया गया है.
आज सेना प्रमुख दलबीर सिंह ने नियंत्रण रेखा पर सैन्य तैयारी की समीक्षा के लिए जम्मू कश्मीर में उत्तरी कमान का दौरा किया है और उनके आने से पहले उरी के ब्रिगेड कमांडर को हटाया गया है. उनकी जगह पर नए ब्रिगेडियर इंचार्ज ने पद संभाल लिया है.. उन्हें जांच पूरी तक ऊधमपूर हैडक्वार्टर भेज दिया गया है और जांच होने तक उन्हें कोई अतिरिक्त पदभार नहीं दिया जाएगा और वो ऊधमपुर ऑफिस में रहेंगे. यानी जांच पूरी होने तक उन्हें सेना के कामकाज से अलग कर दिया गया है. सिक्योरिटी एजेंसियों के मुताबिक पठानकोट हमले के बाद से सेना को सुरक्षा के मोर्चे पर ठीक से ध्यान देने के लिए कहा गया था लेकिन इसके बावजूद उरी जैसा हमला सुरक्षा में खामियां दिखाता है और इसी का जिम्मेदार ब्रिगेडियर रैंक के अधिकारी को माना गया है.