विधानसभा में सावरकर की तस्वीर पर हंगामा, BJP ने कांग्रेस से पूछा- क्या दाऊद की फोटो लगाएं?

0
64

कर्नाटक विधानसभा में वीर सावरकर की तस्वीर लगाने पर विवाद बढ़ गया है। कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा हॉल में वीर सावरकर की तस्वीर लगाने के खिलाफ विपक्ष के नेता सिद्धारमैया और अन्य कांग्रेस विधायकों ने विधानसभा के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। विपक्ष के नेता सिद्धारमैया समेत कांग्रेस विधायकों ने वाल्मीकि, बासवन्ना, कनक दास, बीआर अंबेडकर, सरदार वल्लभभाई पटेल और अन्य कई लोगों के चित्र के साथ वीर सावरकर की तस्वीर लगाने का विरोध किया है। कांग्रेस विधायकों ने वीर सावरकर की तस्वीर को लेकर विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर विरोध जताया है।

कर्नाटक कांग्रेस प्रमुख और विधायक डीके शिवकुमार ने विधानसभा में वीर सावरकर की तस्वीर लगाने पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि हमारी विधानसभा की कार्यवाही न चले। वे इसे बाधित करना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने इस फोटो को विधानसभा में लगाया है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास विकास का कोई एजेंडा नहीं है और वह जानते हैं कि हम उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मुद्दे को उठाने जा रहे हैं।

कर्नाटक विधानसभा में सावरकर की तस्वीर लगाए जाने को लकर विपक्ष के नेता सिद्धारमैया ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि यह कोई विरोध नहीं है, यह हमारी मांग है कि सभी राष्ट्रीय नेताओं और समाज सुधारकों के चित्र कर्नाटक विधानसभा हॉल में लगाए जाएं। विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा में वीर सावरकर की तस्वीर लगाने को लेकर एकतरफा फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि मैं किसी की तस्वीर लगाने के खिलाफ नहीं हूं। सरकार कानून और व्यवस्था जैसे वास्तविक मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाना चाहती है।

कर्नाटक विधानसभा में सावरकर की तस्वीर लगाने पर विवाद को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने बयान दिया। उन्होंने कहा कि वीर सावरकर की फोटो लगाने से इन्हें दुख हुआ है। सिद्धारमैया को पूछिए दाऊद इब्राहिम का लगाना है क्या फोटो? उनकी समस्या तुष्टीकरण की राजनीति है, जिसके कारण आज देश इस स्थिति में पहुंचा है। सावरकर एक स्वतंत्रता सेनानी हैं।

प्रह्लाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस सिर्फ स्वतंत्रता संग्राम और उनके बलिदान में अपनी भूमिका के बारे में बात करती हैं, लेकिन अब की कांग्रेस और पहले वाली कांग्रेस एक जैसी नहीं है, अब हमारे पास जो कांग्रेस है वह डुप्लीकेट है। बता दें कि बेलगावी में आज से कर्नाटक विधानसभा सत्र शुरू हो गया है, जिसके चलते बेलगावी में धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके अलावा बेलगावी पुलिस ने महाराष्ट्र एकीकरण समिति को अपना महामेला सम्मेलन आयोजित करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। जिस स्थान पर महामेला होना है, वहां भारी पुलिस बल मौजूद है।