UP चुनाव के बाद रालोद अध्यक्ष का बड़ा फैसला, भंग किए सभी…

0
95

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly elections) के नजीते देख हर किसी के होश उड़ गए। जिस तरह समाजवादी पार्टी अपनी जीत के दावे कर रही थी उससे ऐसा लग रहा था कि समाजवादी पार्टी इस बार भाजपा को कड़ी टक्कर देने वाली है। लेकिन जब चुनाव के नतीजे सामने आए तो सब हैरान रह गए। बता दें कि इस बार समाजवादी पार्टी ने राष्ट्रीय लोकदल के साथ गठबंधन कर चुनाव लडा था। लेकिन अखिलेश और जयंत का ये फॉर्मूला कारगर साबित नहीं हुआ। चुनाव में मिली करारी हार के बाद अब रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी का बड़ा बयान सामने आया है।

अपने इस बयान में जयंत चौधरी ने पार्टी को एक आदेश भी दिया है। इस बयान में उन्होंने उत्तर प्रदेश में सभी फ्रंटल संगठनों को तोड़ दिया है। राष्ट्रीय लोकदल के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से इस बात की जानकारी दी गई है। इसको लेकर ट्वीट करते हुए राष्ट्रीय लोकदल ने लिखा कि “राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष जयंत चौधरी के निर्देशानुसार राष्ट्रीय लोकदल उत्तर प्रदेश के प्रदेश, क्षेत्रीय और जिला व सभी फ्रंटल संगठनों को तत्काल प्रभाव से भंग किया जाता है।”

बता दें कि इस बार रालोद के साथ साथ सपा ने सुभासपा और प्रसपा के साथ भी गठबंधन किया था। लेकिन फिर भी सपा के हाथ सफलता नहीं लगी। वहीं, भाजपा ने अपना दल और डॉ. संजय निषाद की पार्टी के साथ गठबंधन किया था। इस गठबंधन को कुल 273 सीटें मिलीं, जबकि सपा गठबंधन को केवल 125, जिसमें से 111 सपा, 8 रालोद और सुभासपा को केवल छह सीट मिलीं।