उद्धव ठाकरे के बयान से फिर शुरू हुआ अफ़वाहों का दौर, ‘..हम फिर से एक साथ आ सकते हैं’

0
124

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एक ऐसा बयान दिया है जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं के बाज़ार गर्म हो गए. उद्धव ठाकरे ने एक प्रोग्राम में केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा (BJP) नेता रावसाहेब दानवे का नाम लेकर की. उन्होंने उनको “मेरे पूर्व मित्र – और यदि हम फिर से एक साथ आते हैं, तो भविष्य के मित्र” के रूप में संदर्भित किया.

उनकी इस टिप्पणी ने वहां मौजूद लोगों को हंसाया तो जरूर, लेकिन अटकलों को भी जन्म दे दिया. राज्य के कई राजनेताओं ने सोचा कि क्या वह एक बड़ा संकेत छोड़ रहे हैं. शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने बाद में अपने भाषण में स्पष्ट किया कि वह केवल मजाक कर रहे थे क्योंकि वह लंबे समय के बाद अपने पुराने दोस्त रावसाहेब दानवे से मिले थे.

ठाकरे ने कहा, “मुझे एक कारण से रेलवे पसंद है. आप ट्रैक नहीं छोड़ सकते और दिशा नहीं बदल सकते. हां, लेकिन अगर कोई डायवर्जन हो तो आप हमारे स्टेशन पर आ सकते हैं. लेकिन इंजन पटरियों को नहीं छोड़ता है.” रावसाहेब दानवे रेल राज्य मंत्री हैं और महाराष्ट्र के मराठवाड़ा क्षेत्र से आते हैं.

कांग्रेस नेता नाना पटोले ने अपने सहयोगी की टिप्पणियों पर कहा, “मुख्यमंत्री को कभी-कभी मज़ाक करना पसंद है और उन्होंने ठीक ऐसा ही किया. यह सरकार अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. महाराष्ट्र में सरकार के साथ कोई समस्या नहीं है.” याद दिला दें कि पटोले ने हाल ही में कांग्रेस द्वारा अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात कही थी. जिसके बाद महाराष्ट्र के शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस गठबंधन में कुछ विवाद पैदा किया था.