नवम्बर में होगा एकल श्रीहरि का स्नेह सम्मेलन, मुख्य अतिथि के रूप में माननीय राज्यपाल आमंत्रित

0
159

देश की ख्यात समाजसेवी संस्था एकल श्रीहरि ने दीपावली के शुभ अवसर पर आगामी 13 नवंबर को मुंबई में एक स्नेह सम्मेलन का आयोजन किया है जिसमें संस्था के 25 वर्षीय सेवा यात्रा पूरे होने के उपलक्ष्य में रजत जयंती समारोह के आयोजन और भावी कार्य योजना की रूपरेखा तय की जाएगी। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहने के लिए महाराष्ट्र के राज्यपाल माननीय भगत सिंह कोश्यारी को संस्था के पदाधिकारियों ने निमंत्रण पत्र दिया।

संस्था के मुंबई अध्यक्ष विजय केडिया जी ने बताया कि माननीय राज्यपाल महोदय को स्नेह सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में सादर आमंत्रित करने के लिए एकल श्रीहरि की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के वरिष्ठ पदाधिकारियों की एक टीम राजभवन पहुंची और संस्था की गतिविधियों से अवगत कराते हुए उन्हें सादर आमंत्रित किया।राज्यपाल महोदय ने कार्यक्रम में उपस्थित रहने का हर संभव प्रयास करने का आश्वासन दिया।

मंजू केडिया, उपाध्यक्ष मुंबई ने जानकारी दी कि राजभवन के अतिथिगृह के हॉल में संस्था की संयुक्त टीम से आमंत्रण पत्र लेते हुए माननीय राज्यपाल ने एकल श्रीहरि के धर्म, जाति, वर्ण, लिंग और भाषाई मतभेदों से ऊपर उठकर समग्र राष्ट्र और समाज सेवा के कार्यों की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए भविष्य के प्रयासों की रूपरेखा निश्चित करने में वैचारिक सहयोग का आश्वासन भी दिया।

माननीय राज्यपाल को मुख्य अतिथि के रूप में निमंत्रण पत्र देने के लिए संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष सत्यनारायण काबरा, ट्रस्टी महावीर प्रसाद गुप्त, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्रीमती मीना अग्रवाल, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष विनय शारदा, सचिव गोविंद सर्राफ एवं ऊषा गोयल, अध्यक्ष अमिता अग्रवाल, दानदाता रामअवतार मोदी के अलावा सम्मानित सदस्य वीरेंद्र याज्ञनिक, अंकित गोयल एवं राजीव नौटियाल राजभवन पहुंचे थे। इस अवसर पर संस्था सदस्य वीरेंद्र याज्ञनिक ने अपनी संपादित पुस्तक ‘वन पंचामृतम’ माननीय राज्यपाल को भेंट की।