मुंबई से दिल्ली का सफर अब 13 घंटे से भी कम समय में होगा पूरा

0
99

नयी दिल्ली : देश की राजधानी दिल्‍ली और आर्थिक राजधानी मुंबई के बीच अब ट्रेन का सफर महज तेरह घंटे से भी कम समय में पूरा किया जा सकेगा. यानी मौजूदा 17 घंटों की जगह अब इस दूरी को लगभग 13 घंटों में पूरी किया जा सकेगा. इस ट्रैक पर भारतीय रेल की जगह स्‍पेन में बनी हल्‍की और तेज रफ्तार ताल्गो ट्रेन एक से पांच अगस्त के बीच दौड़ेगी.
वेस्टर्न रेलवे के सूत्रों की मानें तो एक अगस्त को रात 7:55 बजे यह ट्रेन नयी दिल्ली से मुंबई के लिए रवाना होगी. जो 130 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार को मेंटेन करते हुए अपनी पूरी यात्रा को समाप्त करते हुए दूसरे दिन सुबह मुंबई पहुंचेगी. मालूम हो कि दिल्ली से मुंबई के बीच की दूरी 1,384 किमी है और यह ट्रेन चौदह घंटे और पांच मिनट में पूरी कर लेगी. वर्तमान में इस दूरी को राजधानी ट्रेन 130 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से सोलह घंटे में पूरा करती है.
मुंबई से दिल्ली रूट पर इस ट्रेन को टेस्ट ड्राइव के लिए तीन अगस्त को रवाना किया जायेगा. तीन अगस्त को सुबह में तीन बजे इसे मुंबई से रवाना किया जायेगा. जिसके दिल्ली में उसी दिन शाम में पहुंचने की उम्मीद जतायी गयी है. पांच अगस्त को इस ट्रेन को 150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने का प्रस्ताव है और उम्मीद जतायी जा रही है कि दिल्ली से मुंबई के बीच की दूरी को महज 12 घंटे एवं 55 मिनट में पूरा कर लिया जायेगा. रेल मंत्रालय की ओर से उम्मीद जतायी जा रही है कि इन तीन टेस्ट रनों को पूरा कर लिये जाने के बाद ताल्गो ट्रेन की सेवायें इस रूट पर सामान्य तौर से शुरू कर दिया जायेगा.
वर्तमान में दिल्ली से आगरा के बीच गतिमान एक्सप्रेस भारतीय रेल में सबसे तेज रफ्तार से चलनी वाली ट्रेन है. जिसकी गति 160 किमी प्रतिघंटे की बतायी जाती है. बताया जाता है कि ताल्गो ट्रेन 180 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चल सकती है. सूत्रों की माने तो टेस्ट रन के दौरान ताल्गो ट्रेन की रफ्तार बढ़ाने पर विचार किया जायेगा.
ट्रेन में नौ बोगियां लगी होगी. जिसमें दो एक्जयूटिव क्लास, चार चेयरकार, एक कैफेटेरिया, एक पावर कार और एक टेल एंड कोच जो उपकरणों के लिए लगायी जाएगी. कुछ दिनों पूर्व इसका मथुरा-पलवल के बीच 180 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से टेस्ट रन कराया गया था.