“शिवसेना बालासाहेब ठाकरे…” क्या यही होगा शिवसेना का नया नाम?

0
122

चुनाव आयोग के सूत्रों का कहना है कि शिवसेना के उद्धव ठाकरे धड़े ने मुंबई के अंधेरी ईस्ट में आगामी उपचुनाव के लिए तीन नामों और प्रतीकों की एक सूची आयोग को सौंपी है। इससे पहले आयोग की तरफ से 197 नामों और चिह्नों की सूची में से कोई एक नाम सौंपा गया था।

जानकारी मिली है कि उद्धव गुट की अपनी पहली पसंद ‘शिवसेना बालासाहेब ठाकरे’ है। जबकि दूसरी पसंद में उद्धव खेमे ने ‘शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे’ नाम सुझाया है।

दरअसल, शनिवार शाम को पूर्व मंत्री और उद्धव खेमे के वरिष्ठ नेता अनिल परब ने कहा था कि हमारे समूह को चुनाव आयोग द्वारा 197 प्रतीक और नामों की सूची उपलब्ध कराई गई थी। जिसमें से तीन पर विचार किया जा रहा है। बता दें कि शिवसेना के दोनों धड़ों को नाम और चुनाव चिह्न के अपने तीन अंतिम विकल्प सोमवार दोपहर 1 बजे तक चुनाव आयोग को भेजने हैं।

इन नामों पर उद्धव कर रहे विचार

उद्धव ठाकरे गुट ने तीन नामों पर अपनी प्रारंभिक सहमति जताई है। सूत्रों का कहना है कि आज दोपहर को मीटिंग में नाम फाइनल हो सकता है। इसमें दो पसंदीदा नाम शिवसेना बालासाहेब ठाकरे और शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे है।

उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाले गुटों के बीच विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच शनिवार को चुनाव आयोग ने शिवसेना के नाम और उसके ‘धनुष और तीर’ के चिह्न पर रोक लगा दी है। दोनों को तीन नामों और प्रतीकों की एक सूची देने के लिए कहा था। जिसके लिए आयोग ने उन्हें 197 नामों की लिस्ट सौंपी थी।

चुनाव आयोग के अंतरिम आदेश के अनुसार दोनों समूहों को अब नए नामों का चयन जल्द से जल्द करना होगा। उन्हें अलग-अलग प्रतीक आवंटित किए जाएंगे, जिन्हें वे उपलब्ध मुफ्त प्रतीकों की सूची में से चुन सकते हैं।