राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों में मची हड़कंप, कांग्रेस के विरोध में केसीआर..

0
77

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू की जा चुकी हैं। भाजपा के साथ साथ विपक्षी दल भी अपनी रणनीति लिए मैदान में उतरने की तैयारी में हैं। ऐसे में आज विपक्षी दलों की एक अहम बैठक होने जा रही है। जिसमें राष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर भी चर्चा हो सकती है। जानकारी के अनुसार आज दोपहर 3 बजे तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी विपक्षी दलों के नेताओं के साथ बैठक करेंगी और इस बैठक में विपक्षी नेताओं की एक कमेटी बनने पर भी विचार किया जा सकता है। सूत्रों की माने तो इस बैठक में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की पार्टी हिस्सा नहीं लेगी।

इसके साथ ही पता चला है कि के.चंद्रशेखर राव कांग्रेस या भाजपा को समर्थन देने से सहमत नहीं हैं। इस नाराजगी के पीछे की वजह बताते हुए पार्टी ने कहा कि हमें कांग्रेस के बैठक में शामिल होने से आपत्ति है। जिसके चलते ही वह इस बैठक में शामिल नहीं होने वाले। बताते चलें कि हाल ही में एक जनसभा में राहुल गांधी ने बीजेपी के खिलाफ बिना कुछ बोले टीआरएस सरकार पर निशाना साधा था। कहा जा रहा है कि कांग्रेस तेलंगाना में टीआरएस को गिराने के लिए भाजपा का साथ दे रही है।

इसके अलावा पार्टी का आरोप है कि “लोकसभा चुनाव से लेकर हुजुराबाद उपचुनाव तक, बीजेपी को जिताने के लिए कांग्रेस अपनी जमा पूंजी भी गंवाने को तैयार थी तो किसी भी बिंदु पर ऐसी पार्टी में विश्वास का कोई सवाल नहीं है। उम्मीदवार पहले ही चुन लिया गया और बाद बैठक बुलाई गई है। बताइये ऐसा क्यों किया। सही प्रक्रिया यह होती कि बैठकें आयोजित की जातीं, आम सहमति पर पहुंचे, उम्मीदवार पर स्वीकृति ली जाती और बैठक के बाद नाम की घोषणा की जाती। इसलिए टीआरएस बैठक में हिस्सा नहीं लेगी। हमारी पार्टी राष्ट्रपति चुनाव में किस तरह मतदान करेगी इस बारे में निर्णय और घोषणा बाद में की जाएगी।”