प्राइवेसी पॉलिसी पर बढ़ते विवादों के बीच व्हाट्सऐप ने लिया फैसला, कहा “फिलहाल तो यह अपडेट…”

0
115

दुनिया भर में इस्तेमाल किए जाने वाला मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप (WhatsApp) पर अब बहुत से सवाल उठ रहे हैं। हाल ही में अपने नए प्राइवेसी अपडेट (Privacy Update) को लेकर व्हाट्सऐप काफी चर्चा में रहा है और लोग इस नई पॉलिसी (policy) का विरोध भी कर रहे हैं। इस बढ़ते विवादों के बीच व्हाट्सऐप ने शुक्रवार को फिलहाल के लिए अपना प्राइवेसी अपडेट करने का अपना प्लान टाल दिया है। कंपनी द्वारा कहा गया कि नई पॉलिसी को लेकर लोगों में काफी डर बैठ गया है। जिसके चलते इसको फिलहाल के रोका जा रहा है। पॉलिसी को लेकर फैली भ्रामक खबरों को स्पष्ट करने के बाद ही आगे फैसला लिया जाएगा।

व्हाट्सऐप ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा लिखा की “हम सुन रहे हैं कि हमारे लेटेस्ट अपडेट को लेकर काफी भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है। यह अपडेट फेसबुक के साथ डेटा साझा करने की हमारी क्षमता का विस्तार नहीं करता है।” इससे पहले भी व्हाट्सऐप ने इस अपडेट को लेकर सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि “हम आपके निजी संदेश नहीं देख सकते हैं या आपकी कॉल नहीं सुन सकते हैं और न ही फेसबुक ऐसा कर सकता है।” कंपनी द्वारा कहा गया था कि “हम आपके मैसेज या कॉल का विवरण नहीं रखते हैं। हम आपके द्वारा शेयर की कई लोकेशन भी नहीं देख सकते हैं और न ही फेसबुक ऐसा कर सकता है।”

बता दें कि 8 फरवरी तक व्हाट्सएप यूजर्स को प्राइवेसी पॉलिसी को अनिवार्य रूप से स्वीकार करना था। लेकिन बढ़ते विवादों के बाद व्हाट्सऐप ने इसको टाल दिया है। इस विवाद का सबसे ज़्यादा फ़ायदा सोशल मैसेजिंग ऐप टेलीग्राम और सिग्नल को मिला। इस बीच लोगों ने व्हाट्सऐप डिलीट कर इन दोनों ऐप को डाउनलोड किया है। गौरतलब है कि सिग्नल के को-फाउंडर ब्रायन एक्टन (Brian Acton) हैं, जो व्हाट्सएप के भी फाउंडर रह चुके हैं।

ऐसे में अपने बढ़ते यूजर्स को देख उन्होंने कहा कि “हम अपने सर्वर को बढ़ा रहे हैं ताकि हमारे यूजर्स के हिसाब से हमारे पास पर्याप्त क्षमता हो। अभी जिस तरह से हमारी ऐप पर लोगों की संख्या बढ़ी है, हमने उसे मैनेज कर लिया है। हम उत्साहित हैं क्योंकि काफी भारतीय लोगों ने पिछले कुछ समय में सिग्नल ऐप को डाउनलोड किया है। हम इंडियन यूजर्स से अपने प्लेटफॉर्म पर फीडबैक को लेकर उत्सुक हैं।”