PAK का आतंकी चेहरा बेनकाब, कयूम ने कबूला- मिली थी फौजी ट्रेनिंग

0
84

जम्मू-कश्मीर के अखनूर में बॉर्डर के पास से घुसपैठ की कोशिश करते पकड़े गए पाकिस्तानी आतंकवादी अब्दुल कयूम ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. कयूम ने माना है कि उसे पाकिस्तान में आर्मी ट्रेनिंग दी गई थी, इसके अलावा उसने लश्कर के लिए फंड जुटाने की बात भी स्वीकार की है. कयूम से मिली जानकारी से आतंकवाद को बढ़ावा देने के पाकिस्तान के नापाक प्लान का खुलासा हुआ है.
अखनूर में पकड़े गए अब्दुल कयूम ने स्वीकार किया है कि वह लश्कर के कैंप में भी ट्रेनिंग ले चुका है. अब्दुल कयूम की उम्र 30 साल है.
बीएसएफ ने भारत में घुसपैठ करते वक्त शुक्रवार को इंटरनेशनल बॉर्डर से कयूम को गिरफ्तार किया था. अलार्म बजने के बाद उसके चार अन्य साथी भाग खड़े हुए. सूत्रों के मुताबिक, जैसे ही बीएसएफ के जवानों की नजर पड़ी, उसको घेर लिया गया. लेकिन फेन्स पर आतंकी को बिजली का करंट लग गया जिससे वह बेहोश हो गया. इलाज कराने के बाद अब उससे पूछताछ हो रही है. पूछताछ में उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए है.
गिरफ्त में आए आतंकी ने बीएसएफ को बताया कि वह पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला है. पाकिस्तान के शेखुपुरा जिले के मुरीदके में उसकी ट्रेनिंग हुई है. गौरतलब है कि जमात-उत-दावा का ट्रेनिंग हेडक्वार्टर मुरीदके में ही है. आतंकी से बीएसएफ की पूछताछ जारी है.
आतंकी ने लश्कर के लिए 50 लाख रुपये जुटाने का दावा किया है. लश्कर के लिए वह प्रचार भी करता था. उसने बताया कि वह आतंकी हाफिज सईद और सलाउद्दीन को भी जानता है. इसके अलावा कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को भी जानता है. आतंकी ने बताया कि उसे 2004 में पाकिस्तान में ट्रेनिंग दी गई थी. आतंकी से जुड़ा एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें वह अपने गुनाहों को स्वीकार करता दिख रहा है.
जम्मू-कश्मीर के उरी में सेना के ऊपर हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे. इसके बाद आर्मी ने बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ा दी है. कई जगहों पर घुसपैठ की कोशिशों को भी सेना ने नाकाम किया है. उरी में घुसपैठ की कोशिश कर रहे 15 आतंकियों पर सेना ने फायरिंग की थी जिसमें से 10 आंतकी मारे गए थे बाकी 5-6 आतंकी वापस भाग गए थे. जम्मू-कश्मीर के पुंछ में अल्लाहपीर इलाके में रविवार को सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ में 7 आतंकियों को मार गिराया गया था. उनके पास से हथियार भी बरामद किए गए हैं. वहीं, एलओसी से लगे कुपवाड़ा में भी मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर हो गए थे.