एमएसओ और केबल ऑपरेटरों को बंगाल सरकार की सलाह, टीवी पर “सांप्रदायिक टोन” वाली…

0
20

पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के बाद देश भर में हंगामा मचा हुआ है। देश के कई राज्यों में इसको लेकर विरोध प्रदर्शन भी किया जा रहा है। हाल ही में पश्चिम बंगाल के कोलकाता में भी काफी हंगामा देखा गया। इस बीच कोलकाता में हिंसा की खबरें भी सामने आ रही थीं। जिनको देखते हुए अब पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। खबरों की माने तो ममता बनर्जी सरकार ने सोमवार को एक बड़ा कदम उठाते हुए राज्य में सभी मल्टीपल सिस्टम ऑपरेटरों (एमएसओ) और केबल ऑपरेटरों को सलाह दी है।

इसको लेकर जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि राज्य में कई टीवी चैनल्स द्वारा खबरों और घटनाओं को इस तरह से दिखाया जा रहा है, जिसको देखने और सुनने के बाद लोगों में इसका डर बैठ रहा है। सरकार का कहना है कि ऐसा करने से ये न्यूज़ चैनल लोगों की शांति को भंग कर रहे हैं। इसलिए पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने इसको लेकर सभी मल्टीपल सिस्टम ऑपरेटरों और केबल ऑपरेटरों को सलाह दी है कि इस तरह की खबरें न दिखाई जाए।

बयान में कहा गया कि “राज्य सरकार सभी एमएसओ और केबल ऑपरेटरों को दृढ़ता से सलाह देती है, जो विभिन्न निजी सैटेलाइट टीवी चैनलों के ऐसे समाचार और कार्यक्रम प्रसारित कर रहे हैं, जो ऐसी किसी भी सामग्री को प्रसारित करने से तुरंत बचना चाहिए जो उपर्युक्त केबल टेलीविजन नेटवर्क अधिनियम, 1995 का उल्लंघन है।” गोरतलब हैं कि सिर्फ पश्चिम बंगाल में ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में इसको लेकर विवाद जारी है। ये विवाद कई मुस्लिम देशों तक भी पहुंच चुका है। कई मुस्लिम देश तो भारत को बॉयकॉट करने की बात भी कह चुके हैं।