लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में SIT ने दायर की चार्जशीट, मंत्री पुत्र को ठहराया मुख्य आरोपी…

0
44

किसान आंदोलन के दौरान लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत हो गई थी। यह मामला 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में पेश आया। जिसका आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को बताया जा रहा है। गौरतलब हैं कि इस मामले की जांच लगभग पूरी हो चुकी है और जांच दल ने पाया है कि ये कोई हादसा नहीं बल्कि एक सोची समझी साजिश थी, और इस साजिश के मुख्य अपराधी आशीष मिश्रा है। बताते चलें कि इस मामले में SIT ने भी चार्जशीट फाइल कर दी है। इस चार्जशीट में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा उर्फ मोनू भइया को मुख्य आरोपी बनाया गया है।

एसआईटी ने 5000 पन्नों की इस चार्जशीट को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया है। आशीष मिश्रा ने कथित तौर पर अपनी एसयूवी से चार किसानों और एक पत्रकार को रौंद दिया था, जिसके बाद हिंसा भड़क उठी, जिसमें दो भाजपा कार्यकर्ताओं सहित तीन और लोगों की मौत हो गई थी। जिसके बाद उसके खिलाफ केस दर्ज किया गया। हालांकि शुरुआत के इस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया। लेकिन अब आशीष मिश्रा को इस मामले का मुख्य आरोपी माना गया है।

कोर्ट में पेश की गई चार्टशीट में आशीष मिश्रा समेत 16 लोगों को आरोपी बनाया गया है। आशीष मिश्रा और उसके साथियों के खिलाफ किसानों की तरफ से दी गई तहरीर के आधार पर हत्या, हत्या के प्रयास समेत कई गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि इससे पहले भी एक बार एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में आशीष मिश्रा को ही इस सबका जिम्मेदार ठहराया था। जिसके बाद से विपक्ष ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के पद से हटाए जाने की मांग शुरू कर दी थीं।