किसान विरोध प्रदर्शन के बीच पीएम से मिलने पहुंचे दुष्यंत चौटाला, कृषि कानूनों को…

0
41

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों (Farm Bill 2020) के खिलाफ लाखों किसानों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है। किसान करीब दो महीने से दिल्ली के बाहर राजमार्गों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और उनका कहना है कि जब तक कानून वापस नहीं लिया जाता, वे नहीं हटेंगे। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) की ओर से उन्हें काफी राहत मिली है। मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानून के अमल पर रोक लगाने का फैसला लिया साथ ही प्रदर्शनकारी किसानों से बातचीत करने के लिए विशेषज्ञों की एक समिति गठित की।

किसानों के प्रदर्शन का असर अब हरियाणा की राजनीति में देखने को मिला है, किसानों के इस विरोध प्रदर्शन से अब हरियाणा की राजनीति भी गर्मा गई है। केंद्र के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच आज हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला (Deputy chief minister) ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। दोनों के बीच ये मुलाक़ात करीब एक घंटे तक चली। अनुमान लगाया जा रहा है कि दोनों के बीच हुई बैठक में कृषि कानून और किसानों को लेकर चर्चा हुई। इस बैठक के बाद वह चंडीगढ़ के लिए रवाना हो गए।

बता दें कि चौटाला हरियाणा में भाजपा नीत सरकार में गठबंधन साझेदार जननायक जनता पार्टी (जजपा) के नेता हैं। इसे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और दुष्यंत चौटाला गृहमंत्री अमित शाह से भी मुलाकात कर चुके हैं। बैठक के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उप मुख्‍यमंत्री दुष्‍यंत चौटाला दोनों ने कहा कि भाजपा और जेजेपी (जननायक जनता पार्टी) की हरियाणा गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि “हरियाणा सरकार को कोई खतरा नहीं है और यह अपना पूरा पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी।”