अंडरवर्ल्ड पर किताब लिखने के चलते हुई जे डे की हत्या

0
126

मुंबई। मिड डे के पत्रकार जे डे की हत्या अंडरवर्ल्ड पर लिखी जा रही उनकी किताब के कारण हुई। विशेष मकोका अदालत में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की ओर से गैंगस्टर छोटा राजन के खिलाफ दायर पूरक चार्जशीट में यह बात सामने आई। पांच जुलाई को जज एसएस अदकर ने चार्जशीट के लिए जांच एजेंसी को पांच अगस्त तक का समय दिया था।
सीबीआई ने शुक्रवार को 300 पन्नों की चार्जशीट दायर की। इसके मुताबिक, डे “चिंदी : रंक से राजा” नाम से किताब लिख रहे थे, जिसमें 20 अपराधियों की कहानी थी। इनमें एक राजन भी था। चिंदी अपराधियों के लिए अपमानजनक शब्द माना जाता है। किताब से राजन के कई झूठ सामने आने वाले थे।
राजन को कुछ लोगों के जरिये किताब की जानकारी मिल गई थी। तभी से वह किताब न छपवाने के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन डे ने उसकी बात नहीं मानी। इसी कारण 2011 में उनकी हत्या हुई।
जांच एजेंसी ने चार्जशीट में 41 गवाहों के बयान दर्ज किए हैं। गवाहों में रविराम रत्तेसर भी शामिल है। उसे अतिरिक्त आरोपी बनाया गया है। सीबीआइ अधिकारी ने बताया कि रविराम पहले गवाह था लेकिन बाद में उसे राजन और सतीश कालिया के बीच की महत्वपूर्ण कड़ी पाया गया।
उसने राजन के निर्देश पर कई ग्लोबल सिम मुहैया कराए थे। चार्जशीट में अन्य आरोपी से राजन की बातचीत के टेप को भी शामिल किया गया है। फॉरेंसिक रिपोर्ट में टेप की आवाज राजन के वॉइस सैंपल से मिलने की बात कही गई है।