सौ रुपये के नोट के लिए मुंबई वासियों को करना पड़ रहा दिक्क्तों का सामना

0
198

मुंबई: एक हजार और 500 रुपये के नोट को हटाने का फैसला आने के बाद हजारों मुंबई वासियों को आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी और अपने कार्यस्थल पर पहुंचने के लिए स्थानीय ट्रेनों एवं बसों की सेवा लेने जैसे रोजमर्रे के काम में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है.
एटीएम के बंद रहने के कारण लोगों की दिक्कतें और भी बढ़ गईं. कई स्थानों पर लोगों को 1000 और 500 रुपये का नोट लेकर 100 रुपये के नोट का खुल्ला लेने के लिए भटकते हुए देखा गया. शहर के विभिन्न हिस्सों में लोग 100 रुपये का नोट निकालने के लिए कल एटीएम के बाहर कतारबद्ध थे.
कई स्थानीय लोगों ने बताया कि 100 रुपये के पर्याप्त नोट नहीं होने के कारण आज सुबह वे दूध, सब्जी, दवा नहीं खरीद सके और उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा. टैक्सी और ऑटो रिक्शा जैसे सार्वजनिक परिवहन इस्तेमाल करने वाले कई दैनिक यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा क्योंकि वे 500 रुपये का नोट लेने से इनकार कर रहे थे.
पेट्रोल पंप के मालिकों ने बताया कि जो कोई भी खुल्ला लेने के इरादे से ईंधन भरवाने आ रहे हैं उन्हें 100 रुपये के नोट नहीं होने के कारण मना कर दिया जा रहा है. पेट्रोल डीलर एसोसिएशन ने उपभोक्ताओं से 500 या 1,000 रुपये का ईंधन भरवाने की अपील की है.
पेट्रोल डीलर्स एसोएिशन के अध्यक्ष रवि शिंदे ने ‘पीटीआई भाषा’ को बताया कि उन्होंने शहर में सभी 223 सदस्य पेट्रोल पंपों को उपभोक्ताओं के साथ सहयोग करने के निर्देश दिए गए हैं. उन्होंने कहा, ‘‘इसी तरह हमने उपभोक्ताओं से अपने नोटों का इस्तेमाल करने के लिए 500 और 1,000 रुपये का तेल भरवाने की अपील की है.’’