पिता ने पहले बेटी को मार डाला, फिर सूटकेस में बंद कर फेंक आया शव, गिरफ्तार

0
47

नई दिल्ली : ग्रेटर नोएडा से आगरा के बीच बने यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर सूटकेस में युवती का शव मिलने के मामले में पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी है। मथुरा पुलिस ने आज सोमवार को बेटी आयुषी के कत्ल के आरोप में माता-पिता को दिल्ली से गिरफ्तार किया है। पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि माता-पिता ने बेटी के प्रेम-प्रसंग के चलते घटना को अंजाम दिया था।

बताया जा रहा है लड़की का रवैया ठीक नहीं था, इससे परिवार के लोग नाराज चल रहे थे। वारदात वाली रात पिता ने लड़की को अपनी ही लाइसेंसी बन्दूक से गोली मार दी थी, जिसके बाद शव को मां-बाप ने सूटकेस में पैक कर मथुरा के पास हाइवे किनारे फेंक दिया था। nपड़ोसियों ने बताया कि आयुषी अक्सर देर रात तक घर से बाहर रहती थी, जो पिता को नागवार था। इन्हीं सब वजहों से नाराज़ पिता ने बेटी की हत्या कर दी और शव को सूटकेस में भरकर मथुरा के पास हाइवे पर फेंक दिया।

यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर शुक्रवार दोपहर ट्राली बैग में एक शव मिला था। वह दिल्ली में बीसीए कर रही छात्रा का था। वह 17 नवंबर की सुबह घर से निकली थी। स्वजन ने रविवार देर शाम पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर शव की पहचान 22 वर्षीय आयुषी यादव के रूप में की। स्वजन ने कोई विशेष जानकारी नहीं दी, मगर पुलिस इसे ऑनर किलिंग की आशंका मान रही है।

18 नवंबर की दोपहर यमुना एक्सप्रेसवे पर मथुरा के राया थाना क्षेत्र के सर्विस रोड पर एक लाल रंग का ट्राली बैग पड़ा मिला। पुलिस ने बैग को खोला तो उसमें युवती का शव था। ट्राली बैग में लाल और सफेद रंग की साड़ी भी थी। युवती के सीने में गोली लगने का निशान था। सिर और हाथ-पैर पर भी चोट थी।